श्रीनगर: दिल्ली में गिरफ्तार तीन कश्मीरियों के परिवारों ने दिया धरना

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि गिरफ्तार किए गए सभी लोग निर्दोष हैं और उन्हें झूठे मामलों में फंसाया जा रहा है। यह केवल मासूमों को फंसाने का ड्रामा है।

श्रीनगर: दिल्ली पुलिस द्वारा सात दिसंबर को गिरफ्तार किए गए तीन कश्मीरी निवासियों के बीवी बच्चों सहित अन्य पारिवारिक सदस्यों ने श्रीनगर में शुक्रवार को उनकी तुरंत रिहाई की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

एक कथित उग्रवाद के साथ जुड़े होने के कारण पंजाब के दो निवासियों के साथ सोमवार को दिल्ली में दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए तीनों कश्मीरियों की पहचान मध्य कश्मीर के बडगाम जिला निवासी शब्बीर अहमद गोजरी, रेयाज अहमद राथर और मोहम्मद अयूब पठान के रूप में की गयी है। हालांकि उनके पारिवारक सदस्यों ने शुक्रवार को श्रीनगर के प्रेस एन्क्लेव में धरना देते हुए दिल्ली पुलिस के दावे का खंडन किया।

प्रदर्शन के दौरान उन्होंने हाथों में ‘वे निर्दोष हैं’, ‘हम न्याय चाहते हैं’ स्लोगन लिखी तख्तियां लिए उप राज्यपाल और पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) से तीनों की रिहाई के लिये हस्तक्षेप करने की अपील की।

परिजनों ने की रिहाई की मांग

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि गिरफ्तार किए गए सभी लोग निर्दोष हैं और उन्हें झूठे मामलों में फंसाया जा रहा है। यह केवल मासूमों को फंसाने का ड्रामा है। उन्होंने सवाल किया कि क्या कश्मीर के लोगों को दिल्ली आने का कोई अधिकार है। गिरफ्तार पठान के बेटे ने कहा कि उनके पिता एक फैक्टरी में काम करते हैं और उनका उग्रवाद या राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है। गोजरी की पत्नी ने कहा कि उनके पति हर साल सर्दियों में अजमेर के शौर्य मंदिर जाते हैं। इस बार एक अन्य व्यक्ति रेयाज भी उनके साथ था, लेकिन उन्हें दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़े:

Related Articles

Back to top button