स्टार्टअप जिपवर्ल्ड की चालू वित्त वर्ष में 50 विदेशी कंपनियों और 150 वेंडरों को जोड़ने की याेजना

स्टार्टअप जिपवर्ल्ड ने चालू वित्त वर्ष में करीब 150 से अधिक वेंडरों को जोड़ने की योजना बनायी है।

नयी दिल्ली: लॉजिस्टिक ई मॉल सेवा प्रदान करने वाले स्टार्टअप जिपवर्ल्ड ने चालू वित्त वर्ष में करीब 50 विदेशी कंपनियों सहित 150 से अधिक वेंडरों को जोड़ने की योजना बनायी है। इस प्लेटफॉर्म के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंबरीष कुमार ने यहां कहा कि ई मॉल डिजिटल चैनल है जहां ग्राहक खरीददारी कर सकते हैं और लॉजिस्टिक उत्पादों एवं सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। पिछले महीने से कारोबार कर रहा यह प्लेटफॉर्म आयातकों, निर्यातकों और लॉजिस्टिक सेवायें प्रदान करने वालों को अपनी सेवायें दे रहा है।

उन्होंने कहा कि अभी उनके प्लेटफॉर्म से देशी विदेशी करीब 40 वेंडर जुड़ चुके हैं औरचालू वित्त वर्ष के अंत तक इनकी संख्या 150 हो जायेगी। अभी देश के 13 वेंडर उनके प्लेटफॉर्म से जुड़ चुके हैं। इसके साथ ही ब्रिटेन, यूरोप और अमेरिका के भी 20 से अधिक वेंडर आ चुके हैं। कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान इस प्लेटफॉर्म की परिकल्पना की गयी जिसमें कारोबारियों को डिजिटल समाधान प्रदान करने पर जोर दिया गया है।

इसमें देश के दूरस्थ क्षेत्रों में स्थिति विनिर्माताओं को भी सेवायें देने की सुविधा है। उन्होंने कहा कि बड़ी कंपनियों के पास पहले से ही डिलिवरी वाले वेंडर हैं लेेकिन दूरस्थ और छोटी कंपनियों के पास कोई वेंडर नहीं है। उन्हीं को ध्यान में रखते हुये यह प्लेटफॉर्म शुरू किया गया है।

उन्होंने कहा कि अधिकांश घरेलू लॉजिस्टिक कंपनियां मैन्युअली काम कर रही है और उनकाे डिजिटल होने में कम से तीन वर्ष लगेगें। उनकी कंपनी शुरूआत से ही डिजिटली सेवायें दे रही है और अभी देश के 17 हजार पिन कोड पर डिलिवरी दी जा रही है। अभी 17 देशों में भी सेवायें उपलब्ध है जिसके चालू वित्त वर्ष में बढ़कर 40 तक पहुंचाने का लक्ष्य है।

इसे भी पढ़े: अर्थव्यवस्था में सरकार ने त्योहारी सीजन के दौरान इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम को बढ़ाया 

Related Articles

Back to top button