2022 के चुनाव से पहले राज्य सरकार का फैसला, 3 रुपये प्रति यूनिट सस्ती मिलेगी बिजली

पंजाब: पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की बढ़ती कीमतों के बीच पंजाब में लोगों के लिए एक अच्छी खबर है। पंजाब कैबिनेट ने घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली दरों में 3 रुपये प्रति यूनिट की कमी करने का फैसला लिया है। ये फैसला सोमवार से लागू हो गया है।

राज्य में विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले आने वाले इस फैसले से राजकोष पर सालाना 3,316 करोड़ रुपये खर्च होंगे। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कैबिनेट बैठक के बाद यह घोषणा की। सीएम चन्नी ने कहा, “हम घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली की दरों में 3 रुपये प्रति यूनिट की कमी कर रहे हैं।”

जानकारी के अनुसार 100 यूनिट तक बिजली की दर अब 1.19 रुपये प्रति यूनिट होगी, जो पहले 4.19 रुपये थी। 100 से 300 यूनिट के लिए कीमत 4 रुपये प्रति यूनिट होगी, जो पहले 7 रुपये प्रति यूनिट थी। इसके अलावा 300 से अधिक यूनिट के लिए 5 रुपये प्रति यूनिट की दर से शुल्क लिया जाएगा।

जनता को सस्ती बिजली चाहिए

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंजाब के लोगों के लिए यह दिवाली का बड़ा तोहफा है। उन्होंने कहा कि इस फैसले को तत्काल प्रभाव से लागू किया जाएगा और उनकी सरकार द्वारा कराए गए एक सर्वे के मुताबिक पंजाब की जनता को सस्ती बिजली चाहिए थी। पंजाब में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित हैं और दिल्ली में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी दिल्ली की तर्ज पर वहां लगातार मुफ्त बिजली देने का वादा कर रही है।

केजरीवाल ने राज्य का दौरा किया

पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने राज्य का दौरा किया है। जून में केजरीवाल ने घोषणा की थी कि अगर राज्य में आप की सरकार बनती है तो हर परिवार को 300 यूनिट मुफ्त बिजली मुहैया कराई जाएगी। इस घोषणा के बाद नवनियुक्त सीएम चन्नी पर प्रदेश की जनता का विश्वास जीतने के लिए बिजली सस्ती करने का दबाव था।

Related Articles