मायावती का बयान: अगर सम्मानजनक सीट नहीं, तो नहीं होगा गठबंधन

0

लखनऊ: विपक्षी सारे एकजुट होकर भाजपा को 2019 के लोकसभा चुनाव में हराने का मन बना लिए हैं, पर इस निर्णय पर आये दिन कोई न कोई रोड़ा नज़र आ रहा है. बसपा सुप्रीमो मायावती का एक बड़ा बयान सामने आया है उनका कहना है कि केन्द्रीय सत्ता में मजबूत नहीं मजबूर सरकार होनी चाहिए.

कांग्रेस समिति के नेतृत्व में जब से राहुल गांधी का नाम आया है तब से आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने अपने दूसरे विकल्पों का भी जिक्र कर दिया है. उनके इस बयान के बाद मायावती ने भी अपना मामला सीधा और साफ़ कर दिया है. उन्होंने कहा है कि अगर उनकी पार्टी को सम्मानजनक सीट नहीं मिलती है तो वो अपना समर्थन वापस ले लेंगी.

इसके बाद दिल्ली दौरे में उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज काशीराम जी की यह बात एकदम ठीक बैठती है कि सत्ता में मजबूत नहीं मजबूर सरकार होनी चाहिए.

मायावती ने आगे कहा कि उनकी पार्टी अपने दम पर छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में चुनाव लड़ने को तैयार है. अगर कांग्रेस उनको सम्मानजनक सीट नहीं देती है तो वो अपना समर्थन वापस ले लेंगी.

गौरतलब है कि 2014 लोकसभा चुनाव में बसपा एक भी सीट नहीं जीती थी, यही हाल उनका 2017 के राज्य चुनाव में भी रहा.

loading...
शेयर करें