इलाहाबाद में भी तोड़ी गई डॉ भीमराव आंबेडकर की मूर्ति

लखनऊ| उत्तर प्रदेश में अभी भी मूर्तियों का तोड़ा जान शुरू है। ताजा वारदात इलाहाबाद कि है जहां कुछ अराजक तत्वों ने जिले के झूंसी इलाके में स्थित डॉ भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा को तोड़ दिया। इसके बाद पूरे इलाके में तनाव फैला हुआ है। हालांकि, पुलिस ने आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है।

डॉ भीमराव आंबेडकर

पुलिस के मुताबिक, झूंसी थाना क्षेत्र के त्रिवेणीपुरम कालोनी में डॉ. भीमराव रामजी आंबेडकर की प्रतिमा शुक्रवार देर रात किसी समय अराजक तत्वों द्वारा तोड़ दी गई। इस घटना से क्षेत्र में तनाव फैल गया है।

इस घटना के बाद फूलपुर से समाजवादी पार्टी सांसद नागेंद्र सिंह पटेल समेत सैकड़ों लोग मौके पर मौजूद हैं। शनिवार सुबह से ही पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी हो रही है और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की गई है।  वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

उन्होंने कहा कि अराजकतत्वों को चिन्हित किया जा रहा है। उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। आपको बता दें कि त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति टूटने के बाद से मानों देश भर में मूर्ति तोड़ने की एक मुहिम सी चल गई है। लेनिन के बाद तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में समाज सुधारक एवं द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक ई वी रामासामी‘‘ पेरियार’’ की मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया गया। इसके बाद 7 मार्च को उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में अराजकतत्वों ने बाबा साहब भीमराव आंबेडकर की मूर्ति को क्षतिग्रस्त कर दिया।

उसके बाद ऐसी ही घटना एटा जिले में भी देखने को मिली। यहां के थाना जलेसर कस्बे में गत 26 मार्च की रात मोहल्ला गोला कुआं में तिराहे के पास स्थित संविधान निर्माता डॉ भीमराव आंबेडकर प्रतिमा को अराजक तत्वों ने तोड़ दिया। जिसके बाद काफी हंगामा मचा था।

Related Articles