शेयर बाजार : आरबीआई की मौद्रिक, प्रमुख कंपनियों के तिमाही नतीजों पर रहेगी नजर

0

मुंबई:  अगले सप्ताह शेयर बाजार की चाल भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की मौद्रिक नीति समिति के निर्णय और घरेलू और वैश्विक व्यापक आर्थिक आंकड़े मिलकर तय करेंगे। इसके साथ ही निवेशकों की नजर प्रमुख कंपनियों के तिमाही नतीजे, मानसून की चाल, वैश्विक बाजारों के रुख, मॉनसून की चाल, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) और घरेलू संस्थापक निवेशकों (डीआईआई) द्वारा किए गए निवेश, डॉलर के खिलाफ रुपये की चाल और कच्चे तेल की कीमतों पर भी रहेगी।

आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की बैठक 31 जुलाई और 1 अगस्त को होगी। यह वित्त वर्ष 2018-19 के लिए तीसरी द्विमासिक बैठक होगी। एमपीसी के निर्णय की जानकारी 1 अगस्त को दोपहर 2:30 बजे जारी की जाएगी। आरबीआई ने 6 जून को हुई अपनी पिछली बैठक में प्रमुख ब्याज दरों में 0.25 फीसदी की बढ़ोतरी की थी और रेपो दर बढ़कर 6.25 फीसदी तथा रिवर्स रेपो दर 6.00 फीसदी तथा बैंक दर 6.50 फीसदी हो गई थी।

अगले सप्ताह जिन प्रमुख कंपनियों के नतीजे आएंगे। उनमें एनटीपीसी अपनी अप्रैल-जून तिमाही के वित्तीय नतीजे 28 जुलाई को जारी करेगी। एक्सिस बैंक, एचडीएफसी, आइडिया सेलुलर, टेक महिंद्रा, आईडीएफसी और श्री सीमेंट अपने अप्रैल-जून तिमाही के नतीजों की घोषणा 30 जुलाई को करेंगे।

बैंक ऑफ इंडिया, डाबर इंडिया, पॉवरग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया, टाटा मोटर्स, वेदांत के अप्रैल-जून तिमाही के नतीजों की घोषणा 31 जुलाई को की जाएगी। रिलायंस इंफ्रास्ट्रकचर अपने अप्रैल-जून तिमाही के नतीजों की घोषणा 1 अगस्त को करेगी।

इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस और मैरिको के अप्रैल-जून तिमाही के नतीजों की घोषणा 2 अगस्त को की जाएगी। नेस्ले इंडिया और टाइटन कंपनी अपनी अप्रैल-जून तिमाही के नतीजों की घोषणा 3 अगस्त को करेंगी।

आर्थिक मोर्चे पर देश के अवसंरचना उत्पादन का जून का आंकड़ा मंगलवार (31 जुलाई) को घोषित किया जाएगा। देश केअवसंरचना उत्पादन में मई में साल-दर-साल आधार पर 3.6 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई थी जबकि अप्रैल में यह 4.6 फीसदी थी।

विनिर्माण क्षेत्र की जानकारी देनेवाली निक्केई के मैनुफैक्चरिंग पीएमआई सूचकांक का जुलाई का आंकड़ा 1 अगस्त को घोषित किया जाएगा। निक्केई इंडिया मैनुफैक्चरिंग पीएमआई सूचकांक जून में छह महीनों के उच्च स्तर 53.1 पर था, जबकि इसके पिछले महीने यह 51.2 पर था।

निक्केई सूचकांक में 50 से ऊपर का अंक तेजी का और 50 से कम का अंक मंदी का सूचक है।

निक्केई का जुलाई का सर्विसेज पीएमई सूचकांक के आंकड़ों की घोषणा शुक्रवार (3 अगस्त) को की जाएगी। निक्केई इंडिया सर्विसेज पीएमआई जून में बढञकर 52.6 थी और मई में यह 49.6 थी।

वैश्विक मोर्चे पर, अमेरिकी फेड रिजर्व ब्याज दरों को लेकर अपना फैसला बुधवार को जारी करेगी। अमेरिका का ही जुलाई का गैर-कृषि वेतन आंकड़ा शुक्रवार (3 अगस्त) को जारी किया जाएगा। अमेरिका की बेरोजगारी का जुलाई का आंकड़ा शुक्रवार (3 अगस्त) को जारी किया जाएगा। जून में अमेरिका की बेरोजगारी दर बढ़कर 4 फीसदी थी, जो मई में 3.8 फीसदी रही थी।

loading...
शेयर करें