नए साल में बनारिसों ने गटक डाली इतने करोड़ की शराब, शाम को ही खत्म हो गया था स्टॉक

काशी आए लोगों ने इतनी तन्मयता दिखाई कि एक ही दिन में चार करोड़ की शराब गटक गए

साल 2021 को विदाई देने में जुटे बनारस शहर और दूर दराज से काशी आए लोगों ने इतनी तन्मयता दिखाई कि एक ही दिन में चार करोड़ की शराब गटक गए. साल के अंतिम दिन शुक्रवार को जिले में हाल यह रहा कि शाम को चार बजते-बजते कई दुकानों पर स्टाक ही खत्म हो गया. लेकिन एक बात देखने को मिली कि सामान्य की बजाय ब्रांडेड शराब की डिमांड अधिक रही. इससे यह साबित होता है कि नए साल के जश्न में रईसजादे पीछे नहीं थे. बार और वाइन शाप के साथ ही अस्थाई लाइसेंस लेकर भी लोगों ने जमकर शराब पी.

रोज करीब 2.5 करोड़ की बिकती है शराब

आबकारी विभाग के आंकडों की बात करें तो सामान्य दिनों में जिले में रोज ढाई करोड़ रूपए की शराब बिकती है. 31 दिसंबर को साल के अंतिम दिन चार करोड़ से अधिक की शराब बिक गई. इससे आबकारी की एक्साइज इनकम अच्छी खासी रही.

शराब पीने में कोई कसर नहीं छोड़ी

आबकारी विभाग की मानें तो नए साल का जश्न मनाने वाले दिसंबर के अंतिम दिन अधिक शराब खरीदते हैं. इस साल ओमिक्रान संक्रमण फैलने के बाद भी लोगों ने शराब पीने में कोई कसर नहीं छोड़ी. पिछले साल कोरोना संक्रमण के चलते शराब की दुकानें बंद होने से ब्रिकी कम हुई थी. इससे आबकारी विभाग का राजस्व लक्ष्य पूरा नहीं हो सका था, ऐसे में इस बार आबकारी विभाग के अधिकारी अधिक ब्रिकी से खुश नजर आए.

Related Articles