श्रीलंका क्रिकेट एलपीएल में भ्रष्टाचार रोकने के लिए सख्त

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (आईसीसी एसीयू) के सहयोग से श्रीलंका क्रिकेट की भ्रष्टाचार रोधी शाखा (एसएलसी एसीयू) लंका प्रीमियर लीग 2020 में भ्रष्टाचार-रोधी गतिविधियों के लिए पहल कर रही है।

कोलंबो: श्रीलंका क्रिकेट लंका प्रीमियर लीग (एलपीएल) में भ्रष्टाचार रोकने के लिए सख्त है और उसने ‘जीरो टॉलरेंस’ नीति को सख्ती से लागू करने का फैसला किया है।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की भ्रष्टाचार रोधी इकाई (आईसीसी एसीयू) के सहयोग से श्रीलंका क्रिकेट की भ्रष्टाचार रोधी शाखा (एसएलसी एसीयू) लंका प्रीमियर लीग 2020 में भ्रष्टाचार-रोधी गतिविधियों के लिए पहल कर रही है। संबंधित अधिकारी मैच, इवेंट, पूरे टूर्नामेंट और होटल के दौरान उपस्थित रहेंगे और हर समय सतर्कता बरतेंगे।

श्रीलंका क्रिकेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एश्ले डी सिल्वा ने शुक्रवार को टीम के मालिकों और अधिकारियों के साथ बैठक की और टूर्नामेंट के संयोजन को सुचारू रूप से बनाए रखने के महत्व पर जोर दिया और इसके प्रति उनका समर्थन मांगा।

डीसिल्वा ने कहा, “हमने उनसे अनुरोध किया कि वह सुनिश्चित करे कि खिलाड़ी और अधिकारी, भ्रष्टाचार-रोधी प्रोटोकॉल का पालन करेंगे और एक पारदर्शी और निष्पक्ष टूर्नामेंट आयोजित करने की दिशा में काम करेंगें।’’

उन्होंने कहा, “एसएलसी और आईसीसी की भ्रष्टाचार रोधी संस्था के अलावा, एसएलसी को जरूरत पड़ने पर सरकारी सुरक्षा एजेंसियों से मदद मिलेगी ताकि टूर्नामेंट बिना किसी भ्रष्टाचार गतिविधियोंं के संपन्न हो सके।’’

यह भी पढ़े: आतंकवाद के खिलाफ ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति अपनाए सुरक्षा परिषद: भारत

यह भी पढ़े: मां बनने वाली हैं पहलवान बबीता फोगाट, इंस्टाग्राम पर साझा की खुशखबरी

Related Articles

Back to top button