‘स्ट्रोक्स ऑफ जीनियस’ : खेल डाक्यूमेंट्री में दिखेगी फेडरर और नडाल की प्रतिद्वंद्विता

खेल डॉक्यूमेंटरी ‘स्ट्रोक्स ऑफ जीनियस’ में विश्व के दो टेनिस स्टार स्पेन के राफेल नडाल और स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर के बीच की प्रतिद्वंद्विता और एक दूसरे के लिए सम्मान की भावना पर करीब से प्रकाश डाला गया है।

मुंबई: इंटरटेनमेंट स्ट्रीमिंग ऐप ‘डिस्कवरी प्लस’ पहली बार भारत में 90 मिनट की खेल डाक्यूमेंट्री ‘स्ट्रोक्स ऑफ जीनियस’ प्रसारित करने जा रहा है जिसमें विश्व के दो टेनिस स्टार स्पेन के राफेल नडाल और स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर के बीच की प्रतिद्वंद्विता और एक दूसरे के लिए सम्मान की भावना पर करीब से प्रकाश डाला गया है।

यह डाक्यूमेंट्री एल जॉन वर्थीम की लिखी किताब ‘स्ट्रोक्स ऑफ जीनियस: फेडरर, नडाल एंड द ग्रेटेस्ट मैच एवर प्लेयड’ पर आधारित है। इसमें 2008 के विंबलडन में प्रसिद्ध टेनिस खिलाड़ियों के साथ-साथ 20 बार ग्रैंड स्लैम के विजेता राफेल नडाल और रोजर फेडरर के बीच की प्रतिस्पर्धा को करीब से दिखाया गया है।

खेलने की शैली में थोड़ा बदलाव किया

फेडरर ने प्रतिद्वंद्विता और उनके प्रदर्शन पर इसके प्रभाव को लेकर शो में कहा, “मुझे प्रतिद्वंद्विता के विचार को स्वीकार करना पड़ा। शुरुआत में मैं इसे नहीं चाहता था। बाद में मैंने महसूस किया कि इन स्थितियों से सीखने के लिए कुछ अच्छी चीजें हैं इसलिए मैंने अपने खेलने की शैली में थोड़ा बदलाव किया।”

मैंने उन मैचों से बहुत कुछ सीखा

उन्होंने कहा, “मैंने उन मैचों से बहुत कुछ सीखा। इन सब चीजों से गुजरने के बाद आपको लगता है कि आपमें सुधार हुआ है। इन मैचों के कारण आपको जीवन में अधिक अनुभव हो जाता है। आप एक दूसरे का और अधिक सम्मान करना शुरू कर देते हैं।”

दूसरे खिलाड़ियों के अच्छे गुणों की भी पहचान होनी चाहिए

नडाल ने भी शो में इसी तरह के अनुभव बयां करते हुये कहा, “मैं फेडरर की खेलने की शैली की प्रशंसा करता हूं और जो ऐसा नहीं करते वे टेनिस के बारे में नहीं जानते हैं। भले ही आप किसी भी खिलाड़ी के प्रशंसक हो आपमें दूसरे खिलाड़ियों के अच्छे गुणों की भी पहचान होनी चाहिए। फेडरर हर मायने में शानदार हैं।”

स्ट्रोक्स ऑफ जीनियस’ में फेडरर और नडाल की प्रतिद्वंद्विता पर जान मैकनरो, ब्योर्न बोर्ग, पीट सम्प्रास, टिम हेनमैन,कार्लोस मोया, क्रिस एवर्ट और मार्टिना नवरातिलोवा जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के विचार भी लिए गए हैं।

ये भी पढ़ें : टेलीफंकन की दूसरी जीत, मौलाना आजाद को 6 विकेट से हराया

Related Articles

Back to top button