2 नाबालिग दलित लड़कियों का शव मिलने से UP में हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस

उत्तरप्रदेश के जिले उन्नाव में असोहा थाना के बबुरहा गांव में 2 नाबालिग दलित लड़कियों का शव खेत में मिलने से UP में हड़कंप, CM योगी ने कहा उन्नाव की घटना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है

लखनऊ: यूपी के जिले उन्नाव (Unnao) में 2 बच्चियों के शव और 1 बच्ची के बेहोश अवस्था में मिलने से पूरे यूपी में हड़कंप मचा हुआ है। इस मामले में उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जनपद उन्नाव की घटना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। DGP उत्तर प्रदेश को प्रकरण की पूरी रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दे दिए हैं। अस्पताल में भर्ती पीड़िता का सरकारी व्यय पर बेहतर से बेहतर एवं नि:शुल्क इलाज सुनिश्चित किया जा रहा है।

क्या है पूरा मामला?

उत्तरप्रदेश के जिले उन्नाव में असोहा थाना के बबुरहा गांव में 2 नाबालिग दलित लड़कियों का शव खेत में मिला। भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर ने ट्वीट करके कहा कि उन्नाव में जो दो बेटियाँ मारी गई हैं, उनके शव सुरक्षित रखे जाएँ। हाथरस की तरह उनको आनन-फ़ानन में जलाने का मतलब होगा लीपापोती। हमारी माँग है कि एक सीनियर मेडिकल बोर्ड AIIMS, दिल्ली में इनका पोस्ट मार्टम करे और बोर्ड के कम से कम आधे डॉक्टर बहुजन हो।

UP ADG (कानून-व्यवस्था) ने बताया कि उन्नाव में 3 बच्चियों के बेहोश होने की सूचना मिली जिसमें 2 बच्चियों की मौत हो गई, एक बच्ची को कानपुर शिफ्ट किया है। बच्चियों के पोस्टमार्टम से जो तथ्य प्रकाश में आएंगे उस पर आगे कार्रवाई करेंगे। अभी परिजन जो बता रहे हैं हम उस पर कार्रवाई कर रहे हैं। एस.के. शुक्ला, सीओ हसनगंज, कहा कि घटना स्थल पर छानबीन कर रहे हैं, छोटी-छोटी चीजें देखी जा रही हैं। कोई सबूत ऐसा मिले जिससे विवेचना में सहयोग हो, इसके लिए हम छानबीन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ेखेसारी ने रोते हुए कहा, भोजपुरी इंडस्ट्री के लोग मुझे दूसरा सुशांत सिंह राजपूत बना देंगे

 

DGP उत्तर प्रदेश एच सी अवस्थी, DGP उत्तर प्रदेश ने इस बात की पुष्टि करते हुए बताया है कि 2 लड़कियों की मृत्यु हो गई है, उनका पोस्टमार्टम किया गया है। उनके शरीर पर किसी भी प्रकार की मृत्यु पूर्व या बाद चोट का होना नहीं पाया गया है। उन्होंने बोला कि प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए स्थानीय पुलिस द्वारा 6 टीमें गठित की गई हैं। इसका पर्यवेक्षण वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है।

यह भी पढ़़ेपीड़ितों से मिलने किसी भी वक़्त उन्नाव पहुँच सकते है अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav )

Related Articles

Back to top button