#JNU को देशभक्त नहीं बनने देगा उमर खालिद, सरकार के खिलाफ किया विरोध

0

नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में रविवार को ‘कारगिल विजय दिवस’ मनाया गया। इस दौरान वहां के के कुलपति (वीसी) जगदीश कुमार ने सरकार से कैम्पस में सेना का टैंक रखवाने की मांग की थी। जिसके बाद अब एक बार फिर जेएनयू के विरोध की आवाज़ उठी है। विश्वविद्यालय परिसर में टैंक लगाने की मांग का छात्रों और शिक्षकों ने विरोध किया है।

यह भी पढ़ें : #JNU को देशभक्त बनाने के लिए होगा कुछ ऐसा जो आजतक देश के किसी कॉलेज में नहीं हुआ

जेएनयू

एक संस्थान को युद्ध के रंगमंच में नहीं बदला जा सकता है

विरोध करने वालों का कहना है कि एक संस्थान को युद्ध के रंगमंच में नहीं बदला जा सकता है। जेएनयू में देशविरोधी नारे लगाने वाले मुख्य आरोपी उमर खालिद ने ट्वीट कर जेएनयू के छात्रों को कैंपस में रोहित वेमुला की मूर्ति लगाने की अपील की है। उमर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट में लिखा कि छात्रों के लिए सलाह: जएनयू में रोहित वेमुला की प्रतिमा लागाई जाए।

यह भी पढ़ें : जेएनयू में शहीदों को श्रद्धांजलि देने वाले प्रोफेसर की कार पर हमला, RSS और वाम मोर्चा आमने-सामने

पूर्व छात्रों द्वारा दिए गए बलिदान को पहचान दिलाने के लिए टैंक की मांग की गई थी

छात्रों और शिक्षकों द्वारा इस मांग को लेकर आलोचना झेल रहे कुलपति ने बताया, हमारे पूर्व छात्रों द्वारा दिए गए बलिदान को पहचान दिलाने के लिए टैंक की मांग की गई थी। जेएनयू सेना के तीनों अंगों थल सेना, नौसेना और वायु सेना के कैडेटों को डिग्री जारी करता है। वहीं, जेएनयू छात्र संघ की जनरल सेक्रेटरी सतरूपा चक्रबर्ती ने कहा कि एक शैक्षणिक संस्थान की प्राथमिक जरूरत अच्छी शैक्षणिक व्यवस्था, वाद-विवाद और चर्चा के लिए बौद्धिक माहौल और बुनियादी सुविधाएं होती हैं।

जेएनयू

जगदीश कुमार ने सरकार से क्या मांग की थी

जगदीश कुमार ने सरकार से यूनिवर्सिटी के कैंपस में एक टैंक खड़ा करने की मांग की थी। कुमार ने कहा था कि यह टैंक जेएनयू स्टूडेंट्स में सेना के प्रति प्रेम की भावना जगाएगा। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मौजूद थे। उन्होने कहा कि हम वी के सिंह से अनुरोध करते हैं कि हमें एक टैंक उपलब्ध कराएं, जिसे हम कैंपस में रखें, जो कि ययूनिवर्सिटी में लोगों को सेना के सैक्रिफाइज की याद दिलाता रहे।

यह भी पढ़ें : राष्ट्रद्रोह मामले में पुलिस ने की जेएनयू छात्रों से पूछताछ

जेएनयू

पिछले साल जेएनयू में लगे थे राष्ट्रविरोधी नारे

जेएनयू में पिछले साल 9 फरवरी को अफजल गुरु और मकबूल भट्ट की बरसी पर कार्यक्रम आयोजित किया गया था। कार्यक्रम के दौरान देशविरोधी नारेबाजी का वीडियो मीडिया में आने के बाद देशभर में राष्ट्रवाद पर बहस छिड़ गई थी। दिल्ली पुलिस ने कन्हैया कुमार के अलावा अनिर्बान और उमर खालिद पर भी देशद्रोह की धाराएं लगाई थीं। फिलहाल ये तीनों जमानत पर रिहा हैं।

loading...
शेयर करें