स्कूलों (Schools) का किया जा रहा कलाकल्प, छात्रों ने सीखा ‘बरेली’ का हुनर

सीएम योगी ने विद्यालयों का जो सपना सोचा था वो अब नजर आने लगा है। पढ़ाई के साथ-साथ छात्रों में अलग क्रियाकल्प के हुनर भी नजर आ रहे हैं

लखनऊ:  सीएम योगी ने विद्यालयों का जो सपना सोचा था वो अब नजर आने लगा है। पढ़ाई के साथ-साथ छात्रों में अलग क्रियाकल्प के हुनर भी नजर आ रहे हैं। बरेली के परिषदीय स्कूलों में पढ़ने वाले 17 हजार छात्रों ने बरेली के हुनर पोर्टल से जुड़कर नृत्य, गायन, योग, पेंटिंग, क्रॉफ्ट कला जैसा हुनर सीखा है।

विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बरेली में 1451 स्कूलों का कायाकल्प किया जा चुका है। इसके अलवा प्रदेश में 60 हजार से अधिक परिषदीय स्कूलों का कायाकल्प किया गया है।

साल 2022 तक प्रदेश के सभी प्राथमिक विद्यालयों की तस्वीर ऑपरेशन कायाकल्प से बदलने का लक्ष्य रखा गया है। लखनऊ के बीएसए दिनेश कुमार ने बताया कि लखनऊ में 1648 प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में करीब 1450 सकूलों की रंगत ऑपरेशन कयाकल्प के तहत 1451 विद्यालयों की 8646 कक्षाओं में टाइल्स लगवाई गईं।

खेलकूद को दे रहे हैं बढ़ावा

 

बीएसए (BSA) बरेली डॉ. अमरकांत ने बताया कि बच्चों की खेल कूद में रूचि बढ़ाने के लिए 75 स्कूलों में मनरेगा पार्क और ओपन जिम विकसित किए गए है।

कोविड काल में बच्चों की प्रतिभाओं को मंच देने के लिए बरेली का हुनर नामक पोर्टल बनाया गया। जिसके माध्यम से 17000 से अधिक बच्चों को नृत्य, गान, योग, पेंन्टिग, क्रॉफ्ट कला आदि सिखाई गई।

यह भी पढ़े:वेनेज़ुएला (Venezuela) की अपील को अमेरिका सहित यूरोपीय देशों ने ख़ारिज किया

Related Articles

Back to top button