शैक्षणिक दौरे पर गए विद्यार्थी, वापिस आने पर निकले कोरोना पाॅजिटिव

अन्य राज्यों के मुकाबले हिमाचल में कोरोना का खतरा अधिक नहीं हैं। लेकिन सरकार व्यापक स्तर पर इस महामारी से निपटने के लिए प्रतिदिन 6000 कोविड-19 जांच करा रही है।

शिमला: हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुने कहा कि राज्य सरकार विद्यार्थियों की सुरक्षा के प्रति गम्भीर है और इस सम्बंध में प्रभावी कदम उठाए जा रहे है। ठाकुर ने कहा कि मंडी जिले में जोगिंदर नगर स्थित तिब्बती चिल्ड्रन विलेज (टीसीवी) स्कूल के छात्र-छात्राएं और स्कूल स्टाफ सहित 92 लाेग अन्य राज्यों के शैक्षणिक दौरे पर गए थे। वापिस आने पर जब इनका कोविड जांच की गई तो वे पाॅजिटिव पाये गये जो चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों के मुकाबले हिमाचल में कोरोना का खतरा अधिक नहीं हैं। लेकिन सरकार व्यापक स्तर पर इस महामारी से निपटने के लिए प्रतिदिन 6000 कोविड-19 जांच करा रही है।

ये भी पढ़े : लालकृष्ण आडवाणी को उपराष्ट्रपति ने दी जन्मदिन की शुभकामनाएं

विद्यार्थी 25 से 31 अक्तूबर, 2020 के मध्य लद्दाख

उन्होंने बताया कि सभी विद्यार्थी 25 से 31 अक्तूबर, 2020 के मध्य लद्दाख, अरूणाचल प्रदेश, महाराष्ट्र और नेपाल से वापिस लौटे थे। प्रदेश सरकार के तत्पर निर्णय के चलते इन विद्यार्थियों में कोरोना संक्रमण का पता चल पाया है। जिला प्रशासन ने स्कूल परिसर में उपलब्ध व्यवस्था का जायजा लेने के बाद पर्याप्त इंतजाम देखते हुए उन्हें वहां आइसोलेट कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम इनकी निगरानी कर रही है। जरूरत के अनुसार उन्हें वहां से कोविड केयर सेंटर या अस्पताल शिफ्ट किया जाएगा।

ये भी पढ़े : सड़क हादसे में मृतक दारोगा के शव को पुलिस कमिश्नर ने दिया कंधा

प्रदेश सरकार ने भारत सरकार के दिशा-निर्देशानुसार

उन्होंने कहा कि हालांकि प्रदेश सरकार ने भारत सरकार के दिशा-निर्देशानुसार सभी बैरियर खोले हैं। सरकार द्वारा सभी एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि राज्य के बाहर से कोई भी संक्रमित व्यक्ति प्रदेश में न रहे और स्थानीय लोगों की सुरक्षा की जा सके। मुख्यमंत्री ने समस्त प्रदेशवासियों से विनम्र आग्रह किया है कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए सरकार का सहयोग करें। उन्होंने कहा कि अफवाहों से बचें और निर्धारित गाइडलाइंस का पालन करें।

Related Articles

Back to top button