IPL
IPL

मामा-भांजे की करतूत जानकर रह जायेगे दंग, पुलिस के भी उड़ गए थे होश  

खरगोन: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के खरगोन जिले में पुलिस ने नकली नोट छापने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है। पुलिस की टीम ने गैंग के 6 लोगों को गिरफ्तार किया है जिनके पास से 30 लाख 65 हजार के नकली नोट बरामद हुए है। बताया जा रहा है कि तस्करों के पास से 2000 और 500 के हूबहू नोट मिले है। पुलिस का कहना है कि आरोपी अब तक चार लाख से अधिक नकली नोट बाजार में चला चुके हैं।

पुलिस का शिकार बनें आरोपी

इस मामले में खरगोन जिले के एसपी शैलेंद्र सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि जिले के बलकवाडा थाना क्षेत्र में सिंगाजी मंदिर के पास पांच लोग भारी मात्रा में रुपयों का लेन-देन कर रहे हैं। जिसके बाद एसपी ने एक टीम घटित करके मौके पर भेजी, नोट गिन रहे लोगों ने जैसे ही पुलिस टीम को आते देखा तो उन्होंने भागने का प्रयास किया। जिसके बाद पुलिस टीम ने घेराबंदी कर आरोपी जितेंद्र, संजय सिंह जोगी, साहिल पवार, नरेंद्र पवार, अमर सिंह और विजय सिंह को पकड़ लिया। पुलिस को इन लोगों के पास से 18 लाख के नकली नोट बरामद हुए।

पूछताछ में मुख्य आरोपी का चला पता

एसपी सिंह ने बताया कि पुलिस ने पांचों लोगों से पूछताछ की तो उन्हें गिरोह के मुख्य आरोपी की जानकारी मिली, इंदौर में रहने वाला रतनलाल तोमर नकली नोट छापने और चलाने वाले गिरोह को संचालित कर रहा था। पुलिस ने उसे इंदौर के तलावली थाना क्षेत्र से उसे गिरफ्तार कर लिया। जिसके पास से करीब 4 लाख 65 हजार के नकली नोट मिले, इसके अलावा पुलिस ने आगर में रहने वाले रतनलाल नामक शख्स के भांजे के घर से नकली नोट बनाने के दो प्रिंटर, कागज, कटर भी जब्त किया है। जिसका इस्तेमाल ये लोग नकली नोट बनाने में करते थे, बताया जा रहा है कि इस गिरोह को मामा-भांजे मिलकर चलाते थे। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अलग-अलग धाराओं में मामला दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें: PM मोदी ने President Biden को दी बधाई, कहा- मिलकर करेंगे रिश्तों को मजबूत

Related Articles

Back to top button