Babri Masjid Case का फैसला देने वाले जज बनाए गए UP के उप-लोकायुक्त

लखनऊ: 2020 में दशकों से विवादित बाबरी मस्जिद मामले में फैसला सुनाने वाले सेवानिवृत जज सुरेंद्र कुमार यादव को UP का उप-लोकायुक्त बनाया गया है। उन्होंने सोमवार को Uttar Pradesh में उप-लोकायुक्त के पद की शपथ ली। CBI की विशेष अदालत के जज के रूप में सुरेंद्र यादव ने 30 दिसंबर 2020 को अयोध्या में 6 दिसंबर 1992 को हुए बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में BJP के दिग्गज नेताओं लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और कल्याण सिंह सहित सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया था।

बता दें सुरेंद्र कुमार यादव को 6 अप्रैल को राज्यपाल द्वारा तीसरे उप-लोकायुक्त के रूप में नियुक्त किया गया था। सोमवार को सुरेंद्र यादव को लोकायुक्त संजय मिश्रा ने सीनियर अधिकारियों की मौजूदगी में उप-लोकायुक्त पद की शपथ दिलाई।

बता दें उत्तर प्रदेश भ्रष्टाचार विरोधी निगरानी दल Anti corruption watch team में लोकायुक्त और 3 उप-लोकायुक्त शामिल हैं। सुरेंद्र यादव के अलावा दूसरे उप-लोकायुक्त शंभू सिंह यादव, जिन्हें 4 अगस्त 2016 को नियुक्त किया गया था, और तीसरे दिनेश कुमार सिंह, जिन्हें 6 जून, 2020 को नियुक्त किया गया था। बता दें कि एक उप-लोकायुक्त का कार्यकाल 8 साल का होता है।

लोकायुक्त एक गैर-राजनीतिक पृष्ठभूमि (Non-political background) से हैं और एक वैधानिक प्राधिकरण Statutory authority के रूप में काम करता है, जिसमें मुख्य रूप से भ्रष्टाचार, सरकारी कुप्रबंधन (Corruption, government mismanagement) या लोक सेवकों या मंत्रियों (Public servants or ministers) द्वारा सत्ता के दुरुपयोग से संबंधित मामलों की जांच होती है।

ये भी पढ़ें : PNB में बिना एग्जाम के इन पदों पर पा सकते हैं नौकरी, यहाँ करें आवेदन

Related Articles

Back to top button