ऐसा मंदिर जहां हवा में झूलते हैं यहां के सारे पिलर्स, अंग्रेज भी नहीं खोज सके थे मिस्ट्री

0

नई दिल्ली। ऐसा माना जाता है कि आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले के लेपाक्षी मंदिर की कहानी अद्भुत है। पूरी दुनिया में मशहूर इस कहानी के बारे में कहा जाता है कि यहां 70 से ज्यादा पिलर्स यानि खंबे बने हैं। ये कोई ऐसे वैसे खंबे नहीं बल्कि बिना किसी सहारे के खड़े पिलर्स है और बिना किसी सहारे के इन्होंने काफी समय से मंदिर को संभाला हुआ है।

बात करें यहां की मान्यता की तो कहा जाता है कि यहां पर बिना सहारे खड़े पिलर्स के नीचे से अपना कपड़ा निकालने से सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। ऐसा भी कहा जाता है कि बहुत बार इस रहस्य को जानने की कोशिश की गई, लेकिन इस बात की पुष्टि आज तक नहीं हो पाई है कि आज तक ऐसा संभव कैसे है।

वहां के लोगों के मुताबिक अंग्रेज़ों ने भी इसकी मिस्ट्री जानने की बहुत कोशिश की थी लेकिन नाकामयाब रहे थे। 16 वीं सदी में इसको शिफ्ट करने के लिए काफी मशक्कत की गई थी, लेकिन हमेशा की तरह वही हाल कि लोग नाकामयाब हुआ। साथ ही एकबार इस मंदिर को तोड़ने का प्रयास भी किया गया था। बता दें, सन् 1583 में विजयनगर के राजा के लिए वहां काम करने वाले दो भाईयों ने बनाया था, वहीं पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक इसे ऋषि अगस्त ने बनाया था।

loading...
शेयर करें