पूजा-पाठ के दौरान लौंग का ऐसे करें इस्तेमाल, फिर देखें इसका बड़ा कमाल

आप घर में पूजा-पाठ करें या फिर कोई टोटका सभी कामों में लौंग का इस्तेमाल किया जाता है. क्योकि हिंदू धर्म में लौंग को बहुत शुभ और गुणकारी माना जाता है. लौंग का इस्तेमाल पूजा के साथ औषधि के रूप में भी उपयोग किया जाता है. कभी-कभी ऐसा भी होता है कि घर में किसी नकारात्मक एनर्जी के कारण लोगों में लड़ाई होने लगते हैं.

पूजा-पाठ

घर के सदस्यों की नौकरी में कठिनाईयां शुरू हो जाती है. लोग प्रेषण हो जाते हैं. ऐसे में आप घर में लौंग से पूजा-पाठ करवा कर माहौल को अच्छा और खुशनुमा बना सकते हैं. लेकिन ऐसा कतरने की एक महत्वपूर्ण विधि बताई गई है जिसका पालन करना जरूरी है.

सबसे पहले आप घर में देसी घी के साथ आम की लकड़ी जला दें. आम की लकड़ियों की संख्या दो या तीन रख सकती हैं. इसके बाद 11 जोड़ी लौंग लें और ध्यान रखें की लौंग टूटी हुई ना हो और साथ ही ताजी भी हो. इस लौंग को घी के साथ आग में दाल दें. इस दौरान आप चाहें तो मंत्र जाप भी कर सकते हैं.

आपको बता दें कि यह पूजा सूर्योदय से पहले और सूर्यास्त के बाद की जानी चाहिए. इस पूजा से घर की कलह समाप्त होती है और आर्थिक सम्पन्नता आती है. ऐसा कहा जाता है कि लौंग के इस्तेमाल से बच्चों को लगी बुरी नजर भी दूर होती है. इससे बच्चे का खाने-पीने लगते हैं और स्वस्थ्य भी रहते हैं.

बच्चों को दुर्गा मां के चरणों में एक जोड़ा लौंग दान करने के लिए कहा गया है।. इसके साथ ही लौंग को एक सफेद कपडे़ में बांधकर बच्चे के गले में पहनाने से भी फायदा मिलता है. कहा जाता है कि लौंग वायरल इंफेक्शन से बचाती है. इससे बीमार करने वाले कीटाणु दूर रहते हैं.

Related Articles