सुखबीर सिंह बादल ने कहा- सत्ता में आने पर sc/obc छात्रों को देंगे मुफ्त शिक्षा

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सरदार सुखबीर सिंह बादल ने सोमवार को घोषणा की है कि पंजाब में उनकी पार्टी की सरकार बनने के बाद अनुसूचित जाति और पिछड़ी जाति के छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाएगी।

फगवाड़ा: शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सरदार सुखबीर सिंह बादल ने सोमवार को घोषणा की है कि पंजाब में उनकी पार्टी की सरकार बनने के बाद अनुसूचित जाति और पिछड़ी जाति के छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाएगी। उन्होंने दोआबा क्षेत्र में बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर के नाम पर विश्वविद्यालय स्थापित करने का वादा किया है। बादल अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री साधु सिंह धर्मसोत और उनके षडयंत्रकारी साथी पूर्व अनुसूचित जाति कल्याण विभाग के निदेशक से कांग्रेस विधायक बने बलविंदर सिंह धालीवाल के खिलाफ पार्टी के राज्य व्यापी विरोध प्रदर्शन में विशाल रैली को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने एससी छात्रों को आश्वासन दिया कि एक बार अकाली दल के सत्ता में आने पर धर्मसोत को एक महीने के भीतर सलाखों के पीछे डाल दिया जाएगा और उनके गिरोह द्वारा गबन किए गए 64 करोड़ रुपये बरामद कर अनुसूचित जाति के छात्रों को वापिस कर दिए जाएंगे। सरदार बादल ने फगवाड़ा के विधायक बलविंदर धालीवाल के आवास पर मार्च का नेतृत्व किया तथा इसके नजदीक धरना दिया।

सरदार बादल ने कहा कि एक बार अकाली दल के सत्ता में आने के बाद वह स्नातक स्तर तक अनुसूचित जाति और बीसी छात्रों को मुफ्त शिक्षा सुविधा प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब अंबेडकर के नाम पर विश्वविद्यालय शिरोमणि अकाली दल की सरकार के कार्यकाल के डेढ़ साल के भीतर ही स्थापित कर दिया जाएगा। अकाली दल अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से यह भी पूछा कि वह पिछले चार साल में पंजाबियों के लिए किए गए कोई एक काम बताएं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने पिछले चार साल के दौरान सरदार प्रकाश सिंह बादल की सरकार के कार्यकाल के दौरान एससी और बीसी समुदाय को दिए गए लाभों में कटौती की है। बुढ़ापा पेंशन और नीले कार्ड तक हटा दिए गए।

शगुन स्कीम का लाभ

शगुन स्कीम का लाभ अल्पाधिकार प्राप्त दुल्हनों को नहीं दिया गया है। सेवा केन्द्रों को बंद कर दिया गया है। कर्मचारियों को महंगाई भत्ता नहीं दिया जा रहा है, क्योंकि वेतन आयोग में जान-बूझकर देरी की जा रही है। उन्होंने कहा कि हालांकि जनता को परेशानी हो रही है, इसके बावजूद कांग्रेस विधायक शराब और रेत माफिया ड्रग तस्करों से महीनावार पैसे वसूल कर लूटा जा रहा है। उन्होंने कहा कि यही असली कारण है कि राज्य के खजाने खाली हैं।

पंजाब के लिए मालगाड़ी सेवाएं तुरंत शुरू करनी चाहिए

सरदार बादल ने मीडिया के राज्य के नाकेबंदी के प्रश्नों का उत्तर देते हुए कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार को किसान संगठनों के साथ बातचीत करनी चाहिए और पंजाब के लिए मालगाड़ी सेवाएं तुरंत शुरू करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र को पंजाब के लिए रेल सेवा शुरू करने के लिए शर्तें नहीं लगानी चाहिए और यह रवैया लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है।

ये भी पढ़े : कोयला खदान नीलामी के आखिरी दिन छत्तीसगढ़ में शारदा एनर्जी ने किया हासिल

मजीठिया ने एससी समुदाय को विफल करने पर निंदा की

इस अवसर पर पूर्व मंत्री सरदार बिक्रम सिंह मजीठिया ने एससी समुदाय को विफल करने पर निंदा की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा लीडरशिप ने केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्री से संपर्क कर साधु सिंह धर्मसोत के खिलाफ केंद्रीय जांच की मांग की थी। उन्होंने कहा कि इस मामले से कुछ नहीं निकला और प्रदेश भाजपा ने धर्मसोत का विरोध भी नही किया।

ये भी पढ़े : बिहार: कांग्रेस को सता रहा अपने विधायकों के टूटने का डर

इस अवसर पर ये उपस्थित थे

इस अवसर पर डॉ. चरनजीत सिंह अटवाल, प्रोफेसर प्रेम सिंह चंदूमाजरा, बीबी जागीर कौर, डॉ. दलजीत सिंह चीमा, पवन कुमार टीनू, सोहन सिंह थंदल, मोहिंदर कौर जोश, गुरप्रताप सिंह वडाला, सर्वजीत सिंह मक्कर, इंदर इकबाल सिंह अटवाल, बलदेव सिंह फिल्लौर, बचितर सिंह कोहर, चंदन ग्रेवाल तथा सर्वजोत साबी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button