शो ‘पहरेदार पिया की’ बंद होने पर सुमित मित्तल ने खोला ये राज

0

मुंबई। टीवी सीरियल ‘पहरेदार पिया की’ जब से शुरू हुआ है तब से विवादों से घिरा हुआ है। शो की कहानी की बात करें तो 18 साल की लड़की 9 साल का लड़के से शादी हुई थी। जिसको लेकर काफी विवाद छिड गए थे इसके बाद इस को बंद करना पड़ा। इसी को लेकर निर्माता सुमित मित्तल ने अपना बयान दिया है।

‘पहरेदार पिया की’ सुमित मित्तल के लिए चित्र परिणाम

ये भी पढ़ें : किंग खान के बाद जब ‘ट्रेजडी किंग’ से मिलने गईं देसी गर्ल, सायरा बानो ने दिया कुछ ऐसा रिएक्शन

सुमित मित्तल का कहना है कि जब इस शो का प्रसारण बंद करने का फैसला हुआ तो वह टूट गए थे। शो में एक 9 साल के लड़के की शादी 18 साल की लड़की से होते दिखाया गया था। ये शुरू से ही विवादों में रहा। मित्तल ने कहा कि अब वह अपने नए शो ‘ये उन दिनों की बात है’ पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

‘पहरेदार पिया की’ सुमित मित्तल के लिए चित्र परिणाम

‘ब्रॉडकास्टिंग कंटेंट कम्प्लेंट्स काउंसिल’ (बीसीसीसी) को काफी शिकायतें मिलने के बाद सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन ने पिछले महीने ‘पहरेदार पिया की’ का प्रसारण बंद कर दिया। माना जा रहा है कि फैसला सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के दबाव में लिया गया था।

सुमित अब 1990 के दशक की पृष्ठभूमि पर आधारित ‘ये उन दिनों की बात है’ पर नई ऊर्जा के साथ ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। यह किशोरावस्था की प्रेम कहानी के बारे में हैं। यह मंगलवार से प्रसारित होने जा रहा है।

सुमित से जब पूछा गया कि उन्हें किस चीज ने एक और जोखिम लेने के लिए प्रेरित किया और विवादों से उन्होंने क्या सीखा तो उन्होंने आईएएनएस को बताया, “हम लोग रचनात्मक लोग हैं। शशि और मैंने हमारे रचनात्मक सफर के दौरान कई उतार-चढ़ाव देखे हैं। हां, मैं उस समय टूट गया था, जब अधिकारियों (बीसीसीसी) को विस्तार से समझाने के बाद भी हमें अपना शो बंद करना पड़ा, लेकिन आपने देखा कि साथ ही हम ‘ये उन दिनों की बात है’ का निर्माण भी कर रहे थे।”

‘पहरेदार पिया की’ सुमित मित्तल के लिए चित्र परिणाम

उन्होंने कहा, “तो, हम तेजी से आगे बढ़ने में कामयाब हुए। यह शो हमें हमारी निजी प्रेम कहानी को एक बार फिर से जीवंत करने की अनुमति देता है।”

उन्होंने कहा कि शो की कहानी की प्रेरण खुद उनकी और पत्नी शशि की प्रेम कहानी है। शशि उनकी प्रोडक्शन पार्टनर भी हैं। सुमित ने कहा कि 1990 के दशक को फिर से जीवंत करना खास अनुभव था।

‘पहरेदार पिया की’ सुमित मित्तल के लिए चित्र परिणाम

उन्होंने कहा कि छोटे शहरों के अधिकांश टेलीविजन दर्शक अभी भी पारिवारिक मनोरंजन देखना पसंद करते हैं। 1990 के दशक का समय सुनहरा दौर था, जब हमने मध्यम वर्ग के परिवारों का परिचय आधुनिक लोकप्रिय संस्कृति से कराना शुरू किया। युवाओं ने अपनी जिंदगी जीने के लिए अपने माता-पिता को भरोसे में लेना शुरू किया।

शो में दो नई प्रतिभाओं आशी सिंह और रणदीप राय को मुख्य कलाकार को रूप में लिया गया है, जिन्हें अपने किरदारों को अच्छे से समझने के लिए दो महीने की वर्कशॉप से जुड़ना पड़ा।

loading...
शेयर करें