Javelin throw में सुमित अंतिल ने जीता गोल्ड,बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

Tokyo Paralympic से भारत के लिए एक और अच्छी खबर आई है. इस बार Sumit Antil ने जेवलिन थ्रो में भारत को गोल्ड मेडल दिलाने का काम किया है

नयी दिल्ली: Tokyo Paralympic से भारत के लिए एक और अच्छी खबर आई है. इस बार Sumit Antil ने जेवलिन थ्रो में भारत को गोल्ड मेडल दिलाने का काम किया है. सिर्फ इतना ही नहीं, सुमित ने इस गोल्ड के साथ वर्ल्ड रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है. उन्होंने 68.55 मीटर का थ्रो किया और वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर दिया. इससे पहले टोक्यो ओलंपिक में नीरज चोपड़ा ने भी जेवलिन थ्रो में गोल्ड मेडल जीता था.

देवेंद्र झाझरिया और सुंदर सिंह ने भी जीता पदक

इससे पहले सोमवार को ही देवेंद्र झाझरिया और सुंदर सिंह गुर्जर ने भी जैवलिन थ्रो में मेडल जीता. देवेंद्र ने रजत तो सुंदर सिंह ने कांस्य पदक पर कब्जा किया.

भारत का दूसरा गोल्ड

बता दें कि पैरालिंपिक में भारत का शानदार प्रदर्शन जारी है. सुमित से पहले भारत को निशानेबाजी में भी गोल्ड मेडल मिल चुका है. यानी भारत के लिए ये लगातार दूसरा गोल्ड आया है. अवनि लेखरा ने निशानेबाजी में गोल्ड मेडल अपने नाम किया. जिसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत तमाम लोगों ने उन्हें बधाई दी.

 

भारत के हाथ से निकला एक मेडल

बता दें कि भारत के चक्का फेंक (डिस्कस थ्रो) एथलीट विनोद कुमार ने सोमवार को टूर्नामेंट के पैनल द्वारा विकार के क्लालिफिकेशन निरीक्षण में ‘अयोग्य’ पाए जाने के बाद पैरालंपिक की पुरुषों की एफ52 स्पर्धा का कांस्य पदक गंवा दिया है. इसी के साथ भारत के हाथ से एक मेडल निकल गया है.  रविवार को विनोद कुमार ने कांस्य पदक जीता था. लेकिन उनके विकार के क्लालिफिकेशन पर विरोध जताया गया, जिसके बाद मेडल रोक दिया गया. बीएसएफ के 41 साल के जवान विनोद कुमार ने 19.91 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो से तीसरा स्थान हासिल किया था.

 

यह भी पढ़े:Sri Krishna Janmashtami के अवसर पर कृष्ण जन्मभूमि पहुंचे CM योगी

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles