सुमित नागल का लक्ष्य तीन माह में टॉप 100 में शामिल होना, ओलंपिक पर है नजर

रोजर फेडरर जैसे दिग्गज के खिलाफ यूएस ओपन में सेट जीतकर कड़ी चुनौती देने के कारनामे ने सुमित नागल के अंदर अनोखा विश्वास भरा है। जिसके चलते उन्हें  टोक्यो ओलंपिक में खेलने का सपना उन्हें दूर नहीं दिखाई पड़ता है। नागल की मानें तो 2016 में वह ओलंपिक खेलने के बारे में सोच भी नहीं सकते थे, लेकिन आज हालात ऐसे नहीं है। नागल के मुताबिक वह ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर सकते हैं। यही वजह है कि उन्होंने अगले तीन माह में अपने लिए टॉप 100 में आने का लक्ष्य रखा है, लेकिन इसके लिए उन्हें पेशेवर विशेषज्ञों की टीम की जरूरत है। विराट कोहली फाउंडेशन और इंडियन ऑयल की मदद से सुमित अपने साथ सिर्फ कोच साशा नेंसल को ले जा पाते हैं।

सुमित के पास कोच साशा के अलावा ट्रेनर मिलोस गलेशिच हैं, लेकिन कम पैसा होने के चलते वह दोनों को अपने साथ टूर्नामेंट में नहीं रख सकते हैं। सुमित के मुताबिक उनके समक्ष पहली चुनौती दोनों को साथ ले जाना है। इसके बाद वह अपने साथ एक फीजियो जोडना चाहते हैं। प्रायोजक मिलेंगे तो वह फीजियो को अनुबंधित करेंगे।

उनकी पहली कोशिश टॉप 100 ब्रेक करना है। उसके बाद ओलंपिक के लिए टॉप 80 में आना पड़ेगा। उनकी वर्तमान रैंकिंग 131 है। अभी भी इस लक्ष्य में 200 से 250 अंक का अंतर है। अच्छी बात यह है कि वह इससे बहुत ज्यादा दूर नहीं हैं।

यह सब काम इस साल जून तक करना है। फिल्हाल वह पुणे में महाराष्ट्र ओपन खेलने जा रहे हैं। उन्हें बंगलूरू में भी चैलेंजर खेलना है।

Related Articles