IPL
IPL

सुनील जैन की नियुक्ति पर हाईकोर्ट ने यूपी सरकार से जवाब मांगा

sunil_1446964435इलाहाबाद। पूर्व लोक सेवा आयोग अध्यक्ष डा. अनिल यादव के नियुक्ति को लेकर प्रदेश सरकार को काफी फजीहत का सामना करना पड़ा। उसके  बाद लोक सेवा आयोग के कार्यवाहक अध्यक्ष के रुप में सुनील कुमार जैन की नियुक्ति की गई। लेकिन लोक सेवा आयोग के वर्तमान अध्यक्ष सुनील कुमार जैन पर भी प्रतियोगी छात्रों की उंगलियां उठने लगीं हैं। सुनिल कुमार जैन भी प्रतियोगी छात्रों के घेरे में आ गए।

प्रतियोगी छात्र संघ समिति के अवनीश पाण्डेय का आरोप है की अनिल यादव की नियुक्ति अवैध करार होने के बाद वर्तमान में बनाएं गए आयोग अध्यक्ष सुनील कुमार जैन पर भी कई गंभीर आरोपों के मुकदमे दर्ज है। इसके बावजूद सरकार ने इन्हें भी लोक सेवा आयोग का अध्यक्ष बना दिया।

उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल कर पद से हटाने की मांग
यूपीपीएससी अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर याचिका दाखिल की गयी जिसमें इलाहाबाद हाइकोर्ट ने उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग के कार्यकारी अध्यक्ष सुनील कुमार जैन की नियुक्ति की वैधता की चुनौती याचिका पर राज्य व आयोग से तीन हफ्ते के अन्दर जबाब मांगा है।
मामले की अगली सुनवाई 12 जनवरी को होगी। यह आदेश न्यायमूर्ति दिलीप गुप्ता तथा न्यायमूर्ति मुख्तार अहमद ने सत्य प्रकाश भारती की याचिका पर दिया है। याचिका जैन की पद पर नियुक्ति पाने की योग्यता पर सवाल उठाए गए है और उन्हें पद से हटाने की मांग की गई है। योग्य आईएस होने के बावजूद मनमाने तौर पर चन्द दिन में कार्यवाहक अध्यक्ष की नियुक्ति कर ली गई नियमानुसार चयन प्रक्रिया नहीं अपनाई गई।
याचिका पर अधिवक्ता एम पी यादव ने बहस की राज्य सरकार की तरफ से अपर महाधिवक्ता सीपी यादव तथा आयोग की तरफ से अधिवक्ता निशीय यादव ने पक्ष रखा। अपर महाधिवक्ता ने कहा कि कार्यवाहक अध्यक्ष बनाने सहित उनके आयोग के सदस्य की नियुक्ति को चुनौती दी गई जो काल वाधित है।

इन पर भी है आपराधिक मामले दर्ज

वही प्रतियोगी संघ समिति के अविनाश पांडेय ने बताया कि सुनील जैन के अपराधिक रिकार्ड की सूची के लिए आरटीआई फाइल की गयी थी जिसमें आगरा के एसएसपी अभी तक अपराधिक रिकार्ड की सूचना नहीं दे पा रहे है। जिससे साफ जाहिर होता है प्रशासन सुनील कुमार जैन की के अपराधिक रिकार्ड की सूची देने से बच रहा। जब कि कार्यकारी अध्यक्ष के ऊपर 147,148,149,307,395,436 धाराओं पर केस दर्ज है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button