Sunil Pal ने किया ऐसा कमेंट, Manoj Bajpayee ने दिया गजब का रिएक्शन, बोले- जिनके पास काम नहीं उन्हें करनी चाहिए ये चीज…

एक्टर मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) ने कॉमेडियन सुनील पाल (Sunil Pal) को मेडिटेशन करने की नसीहत दी है। सुनील पाल ने हाल ही में मनोत बाजपेयी पर तंज कसा था।

नई दिल्ली: एक्टर मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) ने कॉमेडियन सुनील पाल (Sunil Pal) को मेडिटेशन करने की नसीहत दी है। सुनील पाल ने हाल ही में मनोत बाजपेयी पर तंज कसा था। उन्होंने मनोज बाजपेयी को ‘बदतमीज’ और ‘गिरा हुआ आदमी’ कहा था। यहां तक कि सुनील ने मनोज की सुपरहिट वेब सीरीज ‘द फैमिली मैन’ की तुलना ‘पोर्न’ से भी कर दी थी।

सुनील पाल के कमेंट पर उनके रिएक्शन पूछे जाने पर, मनोज बाजपेयी जवाब देने से पहले लगभग एक मिनट तक हंसे। इसके उन्होंने कहा कि उनके पास नौकर नही हैं। इसलिए ऐसा कह रहे हैं। उन्हें ध्यान लगाने(मेडिटेशन) की जरूरत है।

Sunil Pal को मेडिटेशन की जरूरत

मनोज बाजपेयी ने हिंदुस्तान टाइम्स को दिए बयान में कहा,”मैं समझता हूं कि लोगों के पास नौकरी नहीं है। मैं पूरी तरह से समझ गया। मैं इस स्थिति में रहा हूं। लेकिन इस तरह की स्थितियों में, लोगों को ध्यान लगाना चाहिए.”

फिल्मों में किए कॉमिक रोल

सुनील ने 2005 में स्टैंड-अप कॉमेडी रियलिटी शो ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ जीता था। तब से उन्होंने ‘फिर हेरा फेरी’ और ‘अपना सपना मनी मनी’ जैसी फिल्मों में छोटे कॉमिक रोल किए हैं।  इस महीने की शुरुआत में, सुनील ने कहा कि कई बड़े लोग डिजिटल प्लेटफॉर्म पर सेंसरशिप की कमी का फायदा उठा रहे हैं।

मनोज बाजपेयी को बताया बदतमीज

सुनील पाल ने ये भी कहा कि  लोग ऐसा कंटेंट बना रहे हैं जो पारिवारिक ऑडियंस के लिए उचित नहीं है। इसके बाद वह मनोज बाजपेयी और ‘द फैमिली मैन’ पर जमकर बरसे। सुनील पाल ने कहा था,”मनोज बाजपेयी कितना ही बड़ा एक्टर होगा, कितने ही बड़े अवार्ड मिले हैं, पर उससे ज्यादा बदतमीज और गिरा हुआ आदमी मैंने नहीं देखा।”

यह भी पढ़ें: अब नॉर्मल शहद नहीं करें White Honey का सेवन, जानें इसके बेमिसाल फायदे

यह भी पढ़ें: Monsoon Session: विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही 2 अगस्त तक स्थगित

विचारों का भी पोर्न

सुनील ने कहा कि मनोज  बाजपेयी देश में बड़ा अवार्ड जीतने के बावजूद ‘पोर्न’ जैसे कंटेंट बनाने में शामिल हैं। सुनील ने द फैमिली मैन के दूसरे सीज़न के प्लॉट की आलोचना की- प्रियामणि के चरित्र सुची के अपने सहयोगी के साथ निहित संबंध, ‘नाबालिग’ बेटी का रिश्ता ट्रैक और बेटा ‘अपनी उम्र से बड़ा व्यवहार’ कर रहा है। ये सब पोर्न है। पोर्न सिर्फ दिखाने का नहीं होता। विचारों का भी पोर्न होता है।

 (Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles