जावड़ेकर ने कहा, भारत बंद को राजनीतिक दलों का समर्थन एक पाखंड

सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि किसानों के नाम पर बुलाए गए भारत बंद को राजनीतिक दलों का समर्थन एक पाखण्ड है।

नयी दिल्ली: सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि किसानों के नाम पर बुलाए गए भारत बंद को राजनीतिक दलों का समर्थन एक पाखण्ड है।

जावड़ेकर ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, कांग्रेस के नेतृत्व वाली पूर्ववर्ती संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन ( संप्रग) की सरकार ही कृषि उत्पाद बाज़ार समिति ( एपीएमसी) को समाप्त करने का क़ानून लेकर आई थी।

उन्होंने विपछियो को घेरते हुए कहा कि इन्ही पार्टियों द्वारा शासित कई राज्यों में कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग ( समझौता खेती ) को लागू भी किया गया। ये है पाखण्ड का पर्दाफाश । उन्होंने कहा विपछी किसानो को बहकाने की साजिश कर है।

उन्होंने कहा,“मैं फिर से कहना चाहता हूँ, किसानों को मिलने वाला न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) था, है और रहेगा। जैसे पिछले 55 सालों से किसानों को एमएसपी का लाभ मिलता आ रहा है। वैसा ही आगे भी जारी रहेगा।

सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा देश के किसानों की समृद्धि ही हमारी सरकार का ध्येय है। देश के किसानों की समृद्धि ही हमारी सरकार का ध्येय है। उन्होंने कहा कि कृषि सुधार कानून किसानों के हक में है।

यह भी पढ़े: ट्रम्प के सम्मेलन में नहीं शामिल होंगे फ़ाइज़र और माॅडर्ना

यह भी पढ़े: इन भारतीयों ने खाना पकाने की दुनिया में कमाया नाम,ये अवार्ड पाकर बनाई अलग पहचान

Related Articles