धर्म संसद मामले में सुप्रीम कोर्ट सुनवाई को तैयार

हरिद्वार| हरिद्वार में आयोजित हुई धर्म संसद में गांधी और मुस्लिम को लेकर विवादित बयान का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है और सुप्रीम कोर्ट इस मामले पर जल्द ही सुनवाई करने की तैयारी में है। प्रमुख न्यायाधीश एन वी रमना ने कहा हम इस मामले में सुनवाई करने को तैयार है। वरिष्ठ वकील कपिल सिंबल के मुताबिक धर्म संसद मामले में दायर याचिका पर जल्द सुनवाई की जरूरत है इसमे दिए गए भाषण में देश के नारे सत्यमेव जयते से बदलकर सशस्त्रमेव जयते हो गए हैं।

सिंबल ने याचिका दायर कर कहा, इस मामले में महज एफआईआर दर्ज की गई है। बाकी न किसी की गिरफ्तारी हुई और न सुचारू ढंग से जांच की गई है जो लोकतंत्र के लिए उचित नहीं है। सिंबल की दलील के बाद सुप्रीम कोर्ट ने यह निर्णय लिया और इन मामले में सुनवाई करने को तैयार हुई।

जानकारी के लिए बता दें पटना हाईकोर्ट की पूर्व जज जस्टिस अंजना प्रकाश और पत्रकार कुर्बान अली ने धर्म संसद मामले में जांच याचिका दाखिल की है.याचिका में मुस्लिमों के खिलाफ हेट स्पीच की SIT से स्वतंत्र, विश्वसनीय और  निष्पक्ष जांच की मांग की गई है. साथ ही हेट स्पीच सुप्रीम कोर्ट के तहसीन पूनावाला मामले में जारी आदेशों के पालन कराने की मांग की गई है।

Related Articles