भारत से डरकर नवाज शरीफ ने लिया ये बड़ा फैसला!

0

इस्लामाबाद। #SurgicalStrike से पाकिस्तानी सरकार और वहां की सेना बुरी तरह से डर गई है। पाकिस्तान सर्जिकल स्ट्राइक का सच मानने को तैयार नहीं है। वहीं पूरी दुनिया से अलग होने के डर से अब पीएम नवाज़ शरीफ के तेवर बदले हुए नज़र आ रहे हैं। शरीफ ने सेना प्रमुख से कहा कि वह आतंकियों का सफाया करें।

ये भी पढ़ें : पाकिस्तान ने फिर LOC पर किया सीजफायर का उल्लंघन, गोलीबारी जारी

#SurgicalStrike

#SurgicalStrike के बाद आतंकियों में दहशत

#SurgicalStrike के बाद अब भारतीय सेना ने वादा किया है कि वह दिवाली से पहले आतंकियों का सफाया कर देंगे। सेना के इस वादे से पाकिस्तान भी डरा हुआ है। उसे लगता है कि कहीं भारतीय सेना पाक में घुसकर #SurgicalStrike करे।

ये भी पढ़ें : भारतीय सेना का वादा, दिवाली से पहले आतंक मुक्त होगा देश

शरीफ ने गिरगिट की तरह बदला रंग

पाकिस्तानी अखबार डॉन ने दावा किया है कि नवाज शरीफ ने राहिल शरीफ से आतंकियों का सफाया करने को कह दिया है। जी हां हाल में यूएन के मंच पर बुरहान वानी जैसे आतंकी को शहीद बताकर नवाज शरीफ ने अपने ही देश को ब्रैंडेड आतंकी देश साबित कर दिया और खुद आतंकी देश के ब्रैंड एंबेसडर बन बैठे। लेकिन अब भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के मियां साहब यानी नवाज शरीफ डर गए हैं? या बदल गए हैं? या गिरगिट की तरह रंग बदल रहे हैं? पाकिस्तान के इतिहास में जो आज तक नहीं हुआ नवाज शरीफ ने वो करने की कोशिश की है।

शरीफ ने सेना को दी चेतावनी

नवाज़ ने सेना को चेतावनी दी है और आतंकियों के खात्मे का ऑर्डर जारी कर दिया है। इस मामले में उन्होंने आईएसआई को भी टांग अड़ाने से मना कर दिया है।

नवाज़ शरीफ को ये बड़ा कदम इसलिए उठाना पड़ा क्योंकि भारत ने बिना खून बहाए दुनिया में पाकिस्तान को अलग थलग कर दिया। पाकिस्तान में सार्क सम्मेलन रद्द करना पड़ा। अमेरिका, चीन से मदद तो मिल रही है लेकिन वहां से भी लगातार दवाब बन रहा है।

पाक में आतंकियों के खिलाफ बनी  कमेटी

एनएसए नसीर जांजुआ और आईएसआई के डीजी जनरल रिजवान अख्तर की अगुवाई में एक कमेटी बनाई है। जिसका काम है आतंकी संगठनों को शांत करना। आतंकियों की आर्थिक मदद पर रोक लगाना। बैन होने के बाद नाम बदलने वाले संगठनों पर काबू की ज़िम्मेदारी भी इसी कमेटी की होगी।

भारत को खुश करने की कोशिश कर रहा है पाकिस्तान

दूसरा प्लान भारत को संतुष्ट करने के लिए है। पठानकोट हमले की नए सिरे से जांच होगी। रावलपिंडी में एंटी-टेररिज्म कोर्ट में चल रहे मुंबई हमले का ट्रायल भी दोबारा शुरू होगा। इस प्लान पर एक्शन का मतलब है कि हाफिज सईद, मसूद अजहर, लखवी जैसे आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।

 

loading...
शेयर करें