सर्वे: रिश्वतखोरी के मामले में भारतीय नंबर वन, आंकड़े देख आएगी शर्म

नई दिल्ली: अक्सर लोगों का मानना है कि भारत में रिश्वतखोरी ज्यादा होती है। तो यह एक सर्व में सच साबित हो गया है। दरअसल एशिया में किए गए एक सर्वे के मुताबिक रिश्वतखोरी के मामले में भारत की स्थिति सबसे खराब है। यहां घूसखोरी की दर 39% है।

भारत में सबसे ज्यादा घूसखोर

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल के एक सर्वे के मुताबिक केवल 47% लोग मानते हैं कि पिछले 12 महीनों में भ्रष्‍टाचार बढ़ा है। वहीं 63 फीसदी लोगों का मानना है कि सरकार भ्रष्‍टाचार से निपटने में अच्‍छा काम कर रही है। सर्वे के अनुसार भारत में सरकारी सुविधाओं के लिए 46 फीसदी लोग निजी कनेक्‍शंस का सहारा लेते हैं।

सर्वे के मुताबिक रिश्‍वत देने वालों में से करीब आधे से ज्यादा लोगों से घूस मांगी गई थी। वहीं निजी कनेक्‍शंस का इस्‍तेमाल करने वालों का मानना है कि अगर वे ऐसा नहीं करते तो उनका काम नहीं होता।

दूसरा नंबर कम्‍बोडिया और तीसरा नंबर इंडोनेशिया

भारते के बाद अगर घूसखोरी के मामले में कोई और दूसरा देश है तो वह है कम्‍बोडिया, जहां 37% लोग रिश्‍वत देते हैं। इसके अलावा 30% के साथ इंडोनेशिया तीसरे नंबर पर है।

मालदीव और जापान में दर सबसे कम

सर्वे के मुताबिक मालदीव और जापान में घूसखोरी की दर पूरे एशिया में सबसे कम हैं। जहां मात्र 2% लोग ही ऐसा करते हैं। वहीं बांग्‍लादेश में घूसखोरी की दर भारत के मुकाबले काफी कम 24% है जबकि श्रीलंका में यह 16 फीसदी है।

यह भी पढ़ें: मुंबई 26/11 हमले की वीं बरसी पर उपराष्ट्रपति नायडू और शाह ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि

Related Articles