सुशांत सिंह की बहन उठाये सवाल तो भांजी ने कहा-कुछ गलतफहमियां दूर करनी हैं

नई दिल्ली|अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच अब (CBI) के हाथों में हैं. परिवार और फैंस को भरोसा कि जल्द सच उनके सामने होगा. ये आत्महत्या है या मर्डर के साथ अब लोग इस बात को जानना चाहते हैं कि अगर ये सोची समझी साजिश है तो कौन लोग हैं, जो इसमें शामिल थे.एक्टर का परिवार लगातार कोशिश में लगा हैं कि उन्हें सच का पता चल सके,लेकिन सोशल मीडिया पर एक्टर के परिवार को ही ट्रोलर्स ने निशाना बना लिया. सुशांत के निधन की खबर के बाद परिवार से सबसे पहली पहुंचीं उनकी बहन मीतू सिंह को लोगों ने टारगेट किया तो भांजी मल्लिका सिंह ने लोगों को हकीकत से बयां कराकर उनका मुंह बंद करा दिया.सुशांत सिंह राजपूत की बहन मीतू सिंह पर सोशल मीडिया पर जब सवाल उठने लगे तो भांजी मल्लिका सिंह ने ट्रोलर्स को जवाब दिया. दरअसल, ट्रोलर्स ने मीतू सिंह को ये कहते हुए ट्रोल किया कि सुशांत के निधन के बाद उनके चेहरे पर दुख नहीं दिखाई दे रहा था. मल्लिका ने ट्रोलर्स की इस बात पर सफाई देते हुए फिर कहा कि सुशांत का परिवार उनके दोस्त संदीप सिंह को नहीं जानता है.

मल्लिका ने 4 प्वाइंंट के जरिए इस सफाई देते हुए कहा, मैं अपनी मौसी को लेकर फैली कुछ गलतफहमियां दूर करना चाहती हूं’.अपने पहले प्वाइंट में उन्होंने लिखा- ‘अगर आपने कभी साईकोलॉजी पढ़ी हो तो आपको भी पता होगा कि कभी-कभी सदमे में इंसान अपनी फीलिंग्स नहीं दिखा पाता. मेरी मौसी के साथ भी ऐसा ही हुआ. वह विश्वास ही नहीं कर पा रही थीं कि ऐसा कुछ हुआ है. सबसे पहले मामू के निधन की खबर उन्हें ही मिली थी.

उन्होंने सारा सदमा पहले सहा’.अपने दूसरे प्वाइंट में मल्लिका ने कहा ‘वकील ने वहां खड़े रहने के लिए और ये देखने के लिए कहा कि वहां वो इस पर नजर रखें कि जांच कैसे हो रही है, लेकिन जैसे ही वह वहां पहुंची मामू को देखकर वह बेहोश हो गईं’. उन्होंने आगे लिखा कि मामू के अपार्टमेंट में बहुत कीमती सामान था तो मौसी को ध्यान रखने को कहा गया था.

तीसरे प्वाइंट में उन्होंने भाई बहनों के प्यार के बारे में लिखा. उन्होंने कहा, ‘मेरी मौसी ने ही मामू को बाईक चलाना और क्रिकेट खेलना सिखाया है. मेरी मौसी सभी भाई-बहनों में सबसे मजबूत हैं. वह बार-बार अपना फोन चेक कर रही थीं क्योंकि वह अपनी बेटी के लिए परेशान थीं. उनकी बेटी बार-बार रोए जा रही थी, इसलिए वह अपनी बेटी के लिए मजबूत बनने की कोशिश कर रही थीं. वह उस समय बाल ठीक कर रही थीं, क्योंकि उनके बाल आंखों पर आ रहे थे. कैमरे के फ्लैश से उन्हें दिक्कत हो रही थी, क्योंकि हम लोग इसके आदी नहीं हैं’.

अपने चौथे प्वाइंट में मल्लिका ने चौंकाने वाली बात कहीं. ‘परिवार को नहीं पता कि संदीप सिंह कौन हैं? जब मौसी, मामू की बॉडी देखकर बेहोश हो गईं तब इत्तेफाक से संदीप सिंह वहां मौजूद थे और उन्होंने मौसी को संभाला. वह संदीप को नहीं जानती हैं. उन्होंने कहा कि मैं फिर दोहराती हूं कि परिवार में से कोई भी संदीप सिंह को नहीं जानता है.

मल्लिका ने आखिर में लिखा,मेरी मौसी पर उठी उंगली, मेरे नाना-नानी की परवरिश पर उंगली उठाती है. इन पांचों भाई-बहनों में मैंने बहुत प्यार देखा है. मेरी नानी के जाने के बाद सभी ने मामू को बड़ा लाड़ किया. प्लीज हमारे परिवार के खिलाफ गलत बोलना बंद कीजिए. हम सभी भावनात्मक शक्ति के साथ लड़ रहे हैं’.

Related Articles