सुशील मोदी बोले- तेजप्रताप यादव कर रहे सांप्रदायिकता का राजनीतिकरण

सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के पुत्र तेजप्रताप यादव के बयान पर पलटवार किया।

पटना: बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने राष्ट्रीय जनता दल (RJD) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के पुत्र तेजप्रताप यादव के प्रधानमंत्री के कोरोना का टीका लेने के बाद खुद टीकाकरण कराने के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि लालू-राबड़ी परिवार ने अपराध, सांप्रदायिकता और बदजुबानी का राजनीतिकरण (Politicization) कर लोकतंत्र में असहमति की मर्यादाएं तोडीं है।

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि लालू प्रसाद यादव के ज्येष्ठ पुत्र एवं विधायक तेजप्रताप यादव ने कभी सारी मर्यादाएं तोड़ कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को चमड़ी उधेड लेने की धमकी दी तो कभी अपने पिता के समकालीन नेताओं पर अभद्र टिप्पणी की लेकिन राजद ने न तो उनके बयानों पर खेद प्रकट किया और न ही उन्हें भाषा पर संयम रखने की चेतावनी दी। अब तेजप्रताप कोरोना वैक्सीन पर शक करने वाले कट्टरपंथी मौलानाओं को खुश करने के लिए प्रधानमंत्री को खुद पर कोरोना टीके का ट्रायल करने की सलाह दे रहे हैं।

ये भी पढ़ें : बीजेपी की नीतियों ने अर्थव्यवस्था चौपट कर व्यापारियों को पहुंचाया नुकसान : सपा

सुशील मोदी ने कहा कि तेजप्रताप जब मंत्री पद का शपथ पत्र नहीं पढ पाते और जिनकी माता राबड़ी देवी कभी बिहार के राज्यपाल को ‘लंगड़ा’ कह चुकी हों तब उनसे और क्या उम्मीद की जा सकती है। भाजपा नेता ने कहा कि चारा घोटाला के चार-चार मामलों में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव ने अपराध, साम्प्रदायिकता और बदजुबानी का राजनीतिकरण कर लोकतंत्र में असहमति की मर्यादाएं तोडीं। जब बात सामाजिक न्याय की चली तो उन्होंने ‘भूरा बाल साफ करो’ का नारा दिया। राजद बताये कि दलितों-पिछडों को न्याय दिलाने के लिए क्या चार ऊंची जातियों का अपमान कर समाज में तनाव पैदा करना जरूरी था।

ये भी पढ़ें :

Related Articles

Back to top button