‘आई एम वुमेन अवार्ड 2018’ में सम्मानित हुईं सुष्मिता सेन, बेटियों के लिए कहा-

मुंबई: बॉलीवुड की बेहतरीन अदाकारा और पूर्व ब्रह्मांड सुंदरी सुष्मिता सेन ने बेटी होने परे गर्व महसूस करते हुए कहा कि उनके लिए बेटी के रूप में जन्म लेना ही बहुत बड़ा पुरस्कार है। सुष्मिता ‘आई एम वुमेन अवार्ड 2018’ समारोह में सम्मानित किया गया। पुरस्कार ग्रहण के करने के बाद उन्होंने मीडिया से यह बात कही।

उन्होंने आगे कहा, “मुझे लगता है कि एक बेटी के रूप में पैदा होना मेरे लिए मेरे जीवन का एक बड़ा पुरस्कार है.. और करण गुप्ता एजुकेशन फाउंडेशन जैसे संगठन से पुरस्कार प्राप्त करना, जो विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर काम करने वाली महिलाओं को प्रतिष्ठित पुरस्कार देकर सम्मानित करता है, वास्तव में अद्भुत है।”

भारत में दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं पर बात करते हुए सुष्मिता ने कहा, “मैंने इन मुद्दों पर अपनी राय देना बंद कर दिया है, क्योंकि क्या होता है कि हम एक निश्चित अवधि के लिए बहुत बात करते हैं और विरोध करते हैं लेकिन जब हम इन मुद्दों पर कोई ठोस नतीजा नहीं ला पाते हैं, तब बहुत खींझ होती है।”

 उन्होंने कहा, “हमारे देश सहित पूरी दुनिया में अनुचित और अन्यायपूर्ण चीजें हो रही हैं। यह दुखद है। हमारे पास दो चीजों का विकल्प है- पहला यह कि हम इस पर दुख जताकर चीजों को भूल सकते हैं। दूसरा यह कि हम कोई ऐसा उदाहरण स्थापित कर सकते हैं जो लोगों को प्रेरित कर सकता है।”

सुष्मिता के अनुसार, “हमारे देश में ऐसे पुरुष हैं जो महिलाओं की सहायता और समर्थन करते हैं। इसलिए हमें इस तरह के अपराध करने वालों को चर्चा में लाने के बजाय उन्हें सुर्खियों में लाना होगा जो हर कदम पर महिलाओं के साथ हैं। यह वह चीज है जो हम यहां करने की कोशिश कर रहे हैं। मुझे आशा है कि यह मददगार होगा।”

Related Articles