निलंबित सांसदों ने विरोध में रात सदन के लॉन में बिताई, सुबह चाय पीने से किया इंकार

0

 

निलंबित सांसदों ने विरोध में रात सदन के लॉन में बिताई, सुबह चाय पीने से किया इंकार

नई दिल्ली: कृषि विधेयक पर रविवार को जोरदार बहस हुई थी और गलत आचरण देखते हुए राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने 8 सदस्यों को निलंबित कर दिया था। जिसके विरोध में कल सोमवार को निलंबित सांसदों ने संसद के कॉरिडोर में रात बिताई। कॉरिडोर में गाँधी प्रतिमा के पास बैठकर सांसदों ने कल रातभर विरोध किया। जिसके बाद आज सुबह उप सभापति हरिवंश विरोध कर रहे सांसदों के लिए चाय लेकर पहुंचे, लेकिन सदस्यों ने चाय पीने से इंकार कर दिया।

रविवार को राज्यसभा के सभापति ने सदन में गलत आचरण के चलते तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन, आम आदमी पार्टी के संजय सिंह, कांग्रेस के राजीव साटव और सीपीएम के के.के. रगेश आदि को निलंबित कर दिया था। जिसके बाद सोमवार को निलंबित हुए सदन के लॉन में पूरी रह जागकर विरोध किया। विरोध कर आहे सांसदों के पास लिखित तख्तियां भी थीं। जिसमे ‘हम किसानों के लिए लड़ेंगे’ ये लिखा था। एक और तख्ती उनके पास थी जिसपर संसद की हत्या लिखा ता।

ये भी पढ़ें : सुप्रीम कोर्ट ने पूछा, ‘क्या टीवी कार्यक्रमों में हस्तक्षेप कर सकती है सरकार?’

आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह इस विरोध में मुखर हैं। आज मंगलवार सुबह विरोध कर रहे निलंबित सांसदों के पास उप सभापति चाय लेकर पहुंचे लेकिन संजय सिंह ने चाय पीने से इंकार कर दिया। संजय सिंह ने कहा, ‘हम लोग पूरी रात यहां धरने पर बैठे रहे हैं, देश के करोड़ों किसानों को न्याय दिलाने के लिए, देश के किसानों के खिलाफ जो काला कानून इस संसद में पास किया गया है उसके खिलाफ। आज सुबह यहां उप सभापति आए थे, हमने उनसे भी कहा कि उस दिन नियम-कानून को ताक पर रखकर किसान विरोधी बिल को पास कराया गया। बीजेपी के पास बहुमत नहीं था, हम वोटिंग कराने की मांग करते रहे, लेकिन आपने वोटिंग नहीं कराई। यहां हम किसानों के लिए बैठे हैं. किसानों के साथ धोखा हुआ है।’

ये भी पढ़ें : राफेल बेड़े में महिला फाइटर पायलट शामिल, अब चीन को औंधे मुँह गिराएंगी जांबाज़ बेटियां

तस्वीर में गा कर विरोध करने नज़र आये निलंबित सांसद-

 

शेयर करें