विधान परिषद चुनाव के परिणामों पर स्वतंत्रदेव ने साधी चुप्पी

सिंह रविवार को सैफई क्षेत्र के रेउआ गांव मे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के झांसी मंडल प्रभारी अजय यादव की बहन की शादी में शामिल होने पहुंचे थे। इस दौरान वह मीडिया के सवालों से कन्नी काटते नजर आये।

इटावा: उत्तर प्रदेश विधान परिषद के स्नातक क्षेत्र के चुनाव में पांच में तीन सीटें हासिल करने के बावजूद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह वाराणसी और गोरखपुर में पार्टी की हार के बारे में जवाब देने से बचते नजर आये।

सिंह रविवार को सैफई क्षेत्र के रेउआ गांव मे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के झांसी मंडल प्रभारी अजय यादव की बहन की शादी में शामिल होने पहुंचे थे। इस दौरान वह मीडिया के सवालों से कन्नी काटते नजर आये। लखनऊ से एक्सप्रेस वे से होकर दोपहर 12 बजे नंगला रेउजा पहुंचे थे और वहां पर करीब 20 मिनट रुकने के बाद वे फिरोजाबाद जिले में एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए के लिए रवाना हो गए।

समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रभुत्व वाले जिलें मे सिंह से पत्रकारों ने पूछा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भाजपा स्नातक खंड एवं शिक्षक की सीट निकालने में असफल रही जबकि गोरखपुर फैजाबाद शिक्षक खंड की सीट भी भाजपा को न मिलकर शर्मा गुट के पास चली गयी। पत्रकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कर्मनगरी में भाजपा की हार पर प्रदेश अध्यक्ष का जवाब मांग रहे है हालांकि सिंह ने चुनाव परिणाम को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की।

प्रदेश अध्यक्ष ने इस दौरान उन्होने किसान आंदोलन को लेकर पूछे गये सवाल का जवाब नहीं दिया। अलबत्ता भरथना में पार्टी नेताओं के खिलाफ दर्ज कराये गये मुकद्दमें पर भाजपा के नेताओं ने इंस्पेक्टर के आचरण की शिकायत उनसे जरूर की है जिसको उन्होने बड़ी ही गंभीरता से जरूर ही सुना।

यह भी पढ़े: ‘नई कृषि नीति को वापस ले और एमएसपी की गारंटी दे सरकार’

Related Articles