18 घंटे के बाद जेल से रिहा हुए तबरेज, बोले- नहीं लगता उत्तर प्रदेश में डर, पिस्टल के साथ…

रायबरेली: बयानबाजी को लेकर चर्चा में रहने वाले मशहूर शायर मुनव्वर राना (Munawwar Rana) के बेटे तबरेज राना (Tabrez Rana) को आखिरकार न्यायालय से राहत मिल गई है। सीजीएम कोर्ट ने गुरुवार को उन्हें 20-20 हजार के दो मुचलके पर जमानत दे दी। तबरेज राना ने रायबरेली जेल में करीब 18 घंटे सजा काट चुके है और गुरुवार रात 8 बजे तक जेल से रिहा हो गए।

जेल से निकलने के बाद तबरेज ने अपने पिता के बयान से उलट बयान देते हुए कहा मुझे उत्तर प्रदेश में डर नहीं लगता। मुन्नवर राना द्वारा शायरी करते हुए पीएम को याद करने के मामले पर तबरेज ने कहा कि वो अपने पिता के साथ पीएम नरेंद्र मोदी से मिल चुके हैं। प्रधानमंत्री ने उन्हें काफी समय दिया था, जिसके लिए वह शुक्रगुजार हैं।

तबरेज का एक वीडियो वायरल हो रहा जिसमे पिस्टल के साथ दिखाई दें रहे है

पीएम पर भरोसा

इसके अलावा उन्होंने कहा है कि पिता को पहले करीब रहने वाले योगी जी को याद करना चाहिए था, लेकिन पीएम ने उन्हें भरोसा दिया था कि जब भी मदद चाहिए हो तो याद करना। मेरी सबसे अधिक हिन्दू दोस्त है जिन्होंने बहुत मदद की है। मेरे पिता ने अपनी जमीन अपने भाईयों को न देकर मन्दिर में दान करने के बयान पर तबरेज ने कहा कि उनके इस बयान के बाद कोई उनको राष्ट्रद्रोही नहीं कहेगा।

एक दिन पहले ही हुए गए गिरफ्तार

रायबरेली पुलिस और स्वॉट टीम ने बुधवार शाम को लखनऊ में मुन्नवर राना के घर से उनके बेटे तबरेज को गिरफ्तार किया था। रात करीब 8 बजे के आसपास पुलिस उसे रायबरेली लेकर पहुंची थी और सीजीएम कोर्ट में उसे पेश किया था जहां कोर्ट ने केस डायरी आदि तलब करते हुए तबरेज को जेल भेज दिया था। गुरुवार को तबरेज की तरफ से उसके वकील ने जिरह किया और अंत में कोर्ट ने 20 हजार के दो जमानत पर उसे जेल से रिहा करने का निर्देश दिया है।

Related Articles