kotak पर सख्ती करते हुए सेबी ने लगाया पचास लाख का जुर्माना

नई दिल्ली : मार्केट रेगुलेटर सेबी ने kotak महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी पर 6 महीनों की रोक लगा दी है। इस कड़ी में सेबी के मुताबिक  कंपनी अगले छै महीने तक नई फिक्स्ड मेच्योरिटी प्लान जारी नहीं करेगी। इस के साथ साथ सेबी ने कंपनी पर पचास लाख का जुर्माना भी लगाया है। इस खबर के जानकारों के मुताबिक कोटक को यह जुर्माना डेड़ महीने के अंदर जमा करना है।

kotak ने स्कीम पूरी होने के बाद भी नहीं चुकाया था पैसा

इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें की सेबी  कोटक AMC की 6 फिक्सड मेच्योरिटी के लेट पेमेंट की जांच कर रहा है। कोटक को अपने फिक्स्ड मेच्योरिटी प्लान पर निवेशकों को पिछले साल अप्रैल में ही पेमेंट करना था लेकिन उसमें देरी हुई। इस कड़ी में कम्पनी ने कहा की फंड हाउस के पास इतना पैसा नहीं था इसी लिए वह वह स्कीम की मेच्योरिटी के बावजूद निवेशकों का पैसा नहीं लौटा पाए।

कोटक महिंद्रा AMC को मेच्योरिटी के बाद अप्रैल 2019 में ही सारा पैसा निवेशकों को रिटर्न करना था लेकिन कंपनी सितंबर 2019 में पेमेंट कर पाई। सेबी ने इस मसले पर संज्ञान लेते हुए निवेशकों को सही जानकारी ना देने, अनुशासनहीनता सहित कई मामलों में कंपनी को दोषी घोषित करते हुए उसपर पाबंदी लगाई है।

यह भी पढ़ें : दिल्ली तलब किए जाने के बाद सीएम ने राहुल गांधी से की मुलाकात, जानें किन मुद्दों पर हुई बात

Related Articles