तमिलनाडु विक्षोभ: कैबिनेट सचिव ने स्थिति की समीक्षा की

कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने तमिलनाडु और केरल के दक्षिणी तटीय क्षेत्र के साथ-साथ गहरे विक्षोभ की स्थिति बनने के मद्देनजर आज यहां वीडियो कांफ्रेन्स के माध्यम से इन राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति की बैठक में स्थिति की समीक्षा की।

नयी दिल्ली: कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने तमिलनाडु और केरल के दक्षिणी तटीय क्षेत्र के साथ-साथ गहरे विक्षोभ की स्थिति बनने के मद्देनजर आज यहां वीडियो कांफ्रेन्स के माध्यम से इन राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति की बैठक में स्थिति की समीक्षा की।

बैठक में लक्षद्वीप के सलाहकार , विभिन्न मंत्रालयों के सचिवों तथा मौसम विभाग के महानिदेशक ने भी हिस्सा लिया।

मौसम विभाग के महानिदेशक ने बताया कि विक्षोभ के दौरान बुधवार से लेकर शुक्रवार तक तमिलनाडु ,केरल और लक्षद्वीप के दक्षिणी तट पर तेज गति की हवाएं चलेंगी तथा भारी से लेकर बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि मौजूदा अनुमान के अनुसार इससे फसलों तथा आवश्यक सेवाओं को नुकसान पहुंच सकता है। उन्होंने कहा कि मछुआरों को शुक्रवार तक समुद्र में नहीं जाना चाहिए।

राज्यों के मुख्य सचिवों ने स्थिति से निपटने के लिए की जा रही तैयारियों की जानकारी दी और कहा कि प्रशासन सभी तरह की जरूरी व्यवस्था कर रहा है।

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के महानिदेशक ने बताया कि जरूरत के अनुसार टीमों को विभिन्न क्षेत्रों में तैनात कर दिया गया है और शेष टीमों को तमिलनाडु में तैयार रखा गया है। नागरिक उडय्यन , दूर संचार , ऊर्जा और गृह मंत्रालय के सचिवों ने स्थिति से निपटने के लिए अपनी तैयारियों का ब्यौरा दिया। रक्षा मंत्रालय के प्रतिनिधि ने भी सेनाओं की तैयारियों के बारे में जानकारी दी।

कैबिनेट सचिव ने राज्य सरकारों और केन्द्रीय मंत्रालयों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि वे सभी जरूरी कदम उठायें जिससे कि नुकसान को कम से कम किया जा सके और आवश्यक सेवाओं को जल्द से जल्द बहाल किया जा सके।

इसे भी पढ़े: कोरोनाग्रस्त मंगलेश डबराल की हालत में थोड़ा सुधार

Related Articles

Back to top button