IPL
IPL

‘तांडव’ विवादः डायरेक्टर अली अब्बास जफर से पूछताछ करने घर पहुंची UP पुलिस

मुम्बई: अमेज़न प्राइम पर रिलीज़ वेब सीरीज तांडव (Tandav) पर मचे बवाल के बाद यूपी पुलिस डायरेक्टर अली अब्बास जफर से पूछताछ करने के लिए उनके घर पहुचीं। इनके खिलाफ लखनऊ के हजरतगंज पुलिस स्टेशन (Hazratganj Police Station) में FIR दर्ज की गयी है हालांकि बवाल के बाद मेकर्स ने माफी मांग ली हैं। अली अब्बास ने कहा था कि उनका मकसद किसी की भावनाओं को आहत करना बिल्कुल भी नहीं था।

डायरेक्टर के घर पर चिपकाया गया नोटिस

बता दें कि यूपी पुलिस बुधवार को तांड़व (Tandav) सीरीज के मामले में मुंबई पहुंची थी। ताजा रिपोर्ट की मानें तो आज पुलिस डायरेक्टर अली अब्बास जफर से पूछताछ करने के लिए उनके घर पहुचीं है। लेकिन अली घर में नहीं मिलें हैं। इसलिए पुलिस ने डायरेक्टर के घर के बाहर नोटिस चिपका दिया है। इस नोटिस में उन्हें 27 जनवरी को लखनऊ पुलिस के सामने पेश होने के लिए कहा गया है।

पुलिस के अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि हमने उन्हें 27 जनवरी को लखनऊ (Lucknow) में आईओ (जांच अधिकारी) के सामने पेश होने के लिए कहा है। उनका घर बंद था और कोई नहीं था, इसलिए हमने वहां नोटिस चिपका दिया है।

किस डायलॉग पर है बवाल?

ऐसा ही कुछ हालिया रिलीज वेब सीरीज तांडव (Tandav) में भी है। इसमें कई ऐसे सीन है जिससे हिन्दुओं की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं। हिंदू देवी-देवताओं का उपहास किया गया है साथ ही दलितों का भी मजाक उड़ाया गया है। भगवान शिव का कथित रूप से उपहास किया गया है।

वेब सीरीज के एक एपिसोड में जीशान अय्यूब गवान शिव के अवतार में हैं और वो इस दौरान यूनिवर्सिटी के छात्रों के सामने भाषण देते हैं औऱ कहते हैं कि ‘आपको किससे आजादी चाहिए. जिसके बाद नारद के वेश में एक मंच संचालक कहता है, ‘नारायणनारायण. प्रभु कुछ कीजिए. मुझे लगता है कि हमें भी कुछ नई स्ट्रेटेजी बना ही लेनी चाहिए’. इस पर शिव के रूप में नजर आ रहे जीशान अय्यूब कहते हैं, ‘क्या करूं मैं तस्वीर बदल दूं क्या’ इस पर मंच संचालक कहता है कि भोलेनाथ आप तो बहुत ही भोले हैं।

यह भी पढ़ें: दो दिन लखनऊ दौरे पर जेपी नड्डा, सरकार व संगठन के साथ की बैठक

Related Articles

Back to top button