एक या दो नहीं…बल्कि 120 महिलाओं को अपनी हवस का शिकार बना चुका है ये तांत्रिक

चंडीगढ़। भले ही हम 21वीं सदी में पहुंच गए हों लेकिन आज भी हमारे समाज का एक हिस्सा काला जादू और भूतप्रेत जैसे अंधविश्वास की जद में जीवन व्यतीत कर रहा है। इसी अंधविश्वास के चलते कई लोग अपराधों का शिकार भी हो चुके हैं।  ऐसी ही एक घटना इस बार हरियाणा के फतेहाबाद जिले में घटी है जहां एक तांत्रिक ने एक या दो नहीं बल्कि 120 महिलाओं को जबरन अपनी हवस का शिकार बनाया है। पुलिस ने आरोपी तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, तांत्रिक पुजारी अमरपुरी उर्फ बिल्लू पर 120 महिलाओं से जबरन संबंध बनाने का आरोप है। इस तांत्रिक पर आरोप है कि वह प्रेतबाधा के नाम पर महिलाओं को पहले अपनी जाल में फंसाता था और फिर तंत्र विद्या के दौरान नशीली दवा दे देता था। इसके बाद बेहोशी की हालत में वह महिलाओं से अपनी हवस की प्यास बुझाता था। केवल इतना ही नहीं, इस दौरान वह इस पूरी घटना का वीडियो भी बना लेता था। फिर लगातार महिलाओं को ब्लैकमेल कर उनका शारीरिक और आर्थिक शोषण करता था।

यह मामला तब सामने आया जब करीब नौ महीने पहले तांत्रिक की काली करतूत का शिकार हुई एक महिला ने रेप का मामला दर्ज कराया था। इस मामले में तांत्रिक को गिरफ्तार किया गया लेकिन बाद में वह जमानत पर रिहा हो गया। हालांकि, बाद में तांत्रिक द्वारा बनाए गए रेप के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गए। जिसके चलते उसकी काली करतूत सामने आ गई। इसके बाद पुलिस ने आरोपी तांत्रिक को गिरफ्तार कर उस पर रेप, आईटी ऐक्ट, ब्लैकमेलिंग समेत कई अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस आरोपी के पास से 120 वीडियो मिलें, जिसमें वह महिलाओं से शारीरिक संबंध बनाते हुए दिखाई दे रहा है। तांत्रिक के कमरे से नशीली गोलियां और तंत्र-मंत्र का सामान भी बरामद किया गया है।

इस बारे में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि इस आरोपी के कमरे में तीन दरवाजे हैं। वह गुप्त रूप से महिलाओं को अपने कमरे में लाता था। उसके कमरे में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे। इस मामले में दो महिलाओं और एक पुरुष को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। आरोपी बिल्लू को 5 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है।

पुलिस ने पीड़िताओं से अपना बयान दर्ज करवाने की अपील की है। अमरपुरी का असली नाम अमरवीर है। वह 20 साल पहले पंजाब के मानसा से टोहाना आया था। शुरुआत में वह जलेबी की दुकान लगाता था। पत्नी की मौत के बाद वह तांत्रिक बन गया।

Related Articles