उत्तर प्रदेश में 1 जुलाई से प्रतिदिन 10 से 12 लाख Vaccine लगाये जाने का लक्ष्य

लखनऊ: अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी के 3T ट्रेस, ट्रैक और ट्रीट अभियान के साथ-साथ आशिंक कोरोना कफ्र्यू तथा टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना का संक्रमण नियंत्रित करने में सफलता मिली है। प्रदेश में कोविड-19 का संक्रमण अन्य प्रदेशों के अपेक्षा कम है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से निगरानी समितियों द्वारा ट्रेसिंग के तहत घर-घर जाकर संक्रमण की जानकारी ली जा रही है।

उन्होंने बताया कि 97,000 ग्रामीण पंचायतों में 5 मई, 2021 से एक विशेष अभियान चलाकर, जिसमें 80,000 निगरानी समितियों द्वारा घर-घर जाकर उन लोगों का जिनमें किसी प्रकार के संक्रमण के लक्षण होने पर उनका एन्टीजन टेस्ट भी कराया जा रहा है। अगर एन्टीजन टेस्ट निगेटिव आ रहा है और लक्षण हैं तो उनका RTPCR  टेस्ट भी कराया जा रहा है, इसके साथ-साथ मेडिकल किट भी बांटी गयी है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है।

1 करोड़ वक्सीनेशन करने का लक्ष्य

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि आंशिक कोरोना कफ्र्यू के समय से प्रदेश में जीवन और जीविका बचाने के उद्देश्य से औद्योगिक, आर्थिक गतिविधियां, चीने मिले और गेहूॅ खरीद चालू रही। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्टों की संख्या कम नहीं की जा रही है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके इलाज किया जा सके। उत्तर प्रदेश देश में प्रतिदिन सबसे अधिक टीकाकरण करने वाला राज्य है। कल 08 लाख से अधिक टीकाकरण किया गया है। माह जून में 01 करोड़ वक्सीनशन करने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री जी ने 01 जुलाई से प्रतिदिन 10 से 12 लाख टीके लगाये जाने का लक्ष्य रखा गया है।

मेडिकल कालेज में 100-100P ICU बेड का कार्य लगभग पूरा

उन्होंने बताया कि कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर के दृष्टिगत प्रदेश में विशेषज्ञ समिति की सलाह पर अवस्थापना सुविधा बढ़ाई जा रही है। उन्होंने बताया कि संभावित कोविड की तीसरी लहर के तहत सभी मेडिकल कालेज में 100-100P ICU बेड का कार्य लगभग पूरा हो गया है। हर जिला अस्पताल में 20-20 बेड पीआईसीयू के और कम से कम दो CHC में पीकू/नीकू के बेड बढ़ाये जा रहे हैं। प्रदेश में भविष्य में आॅक्सीजन की कमी न हो उसकी व्यवस्था प्राथमिकता के आधार पर की जा रही है। प्रदेश में 528 ऑक्सीजन प्लांट में से अबतक 110 प्लांट क्रियाशील हो गये है।

20 लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे

नवनीत सहगल ने बताया कि मिशन रोजगार के तहत अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री जी की अध्यक्षता में आज एक आनॅलाइन मेले का आयोजन किया गया। इस मेले में लगभग 31 हजार नई इकाइयों को बैंकों से समन्वय करके लगभग 2505 करोड़ ऋण उपलब्ध कराया गया। इन इकाइयों से लगभग 20 लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। प्रदेश में रोजगार के अवसर सृजित करने तथा प्रदेश की अर्थव्यवस्था को और बेहतर करने में बड़ा कदम है। उन्होंने बताया कि पिछले वित्तीय वर्ष में लगभग 34 लाख 80 हजार एमएसएमई इकाइयों को लगभग 62 हजार करोड़ का ऋण बैकों के माध्यम से दिया गया था।

प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प

अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए तेजी से की गयी है। 22 जून, 2021 तक  गेहँू क्रय अभियान के तहत लगभग 13 लाख किसानों से 56.39 लाख मी0 टन गेहूँ खरीदा गया है, जो विगत वर्ष से दोगुना है। खरीफ की फसल के लिए खाद बीज उपलब्ध कराया जा रहा है।

ये भी पढ़ें : भारत के सबसे बड़े आतंकी दुश्मन के घर के बाहर Bomb ब्लास्ट, रिपोर्ट में दो की मौत

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles