टाटा स्टील जल्द इस सेक्टर में करेगी 8,000 करोड़ रुपये का investment

नई दिल्ली : दुनिया की बड़ी स्टील कंपनियों में शामिल टाटा स्टील देश में अपनी कैपेसिटी बढ़ाने के लिए मौजूदा फाइनेंशियल ईयर में 8,000 करोड़ रुपये का कैपिटल investment करने का फैसला किया है।

इस कड़ी में कम्पनी के सीईओ के बयान के मुताबिक इस इनवेस्टमेंट का बड़ा हिस्सा ओडिशा में कलिंगनगर के प्लांट की कैपेसिटी बढ़ाने, माइनिंग सेक्टर को सुधारने और रिसाइक्लिंग बिजनेस को बेहतर करने में लगाया जाएगा।

investment से माइनिंग, रीसाइक्लिंग सेक्टर को होगा फ़ायदा

इस कड़ी में जानकारों के मुताबिक इसके अलावा कंपनी अपने यूरोपियन बिजनेस को मजबूत करने और प्रोडक्ट्स की संख्या को बढ़ाने के लिए 3,000 करोड़ के रुपये खर्च कर रही है। इस दौरान सीईओ ने कहा की, “डेवलोपमेन्ट के लिए हम रॉ मैटीरियल पर भी खर्च करेंगे। इस कड़ी में कलिंगनगर प्लांट के एक्सपैंशन में मदद के लिए हम आयरन की  माइनिंग को भी बढ़ा रहे हैं। इस दौरान अपने बयान में उन्होंने कहा की इस कड़ी में टाटा स्टील की योजना कलिंगनगर प्लांट की कैपेसिटी को प्रति वर्ष पचास लाख टन  बढ़ाने की है।

उन्होंने कहा , “इस कड़ी में स्क्रैप के लिए हमारे पास एक अलग बिजनेस मॉडल है। इस कड़ी में कंपनी पश्चिमी और दक्षिणी क्षेत्रों पर विचार कर रही है क्योंकि वहां अधिक स्क्रैप उपलब्ध है। उन्होंने बताया, “हमें उन जगहों पर ये प्लांट लगाने होंगे जहां अधिक स्क्रैप मिल सकता है।”

यह भी पढ़ें :  पैरालंपिक्स में निषाद कुमार ने High jump में जीता सिल्वर मेडल

Related Articles