बदलाव की अटकलों पर टाटा ट्रस्ट्स के चेयरमैन ने लगाया पूर्ण विराम, दी महत्वपूर्ण जानकारी

 

नई दिल्ली: टाटा ट्रस्ट्स के चेयरमैन रतन टाटा ने समूह की नेतृत्व संरचना में बदलाव को लेकर चल रही अटकलों पर काफी निराश हैं। टाटा संस में टाटा ट्रस्ट्स की नियंत्रक हिस्सेदारी है। इन सभी अटकलों को लेकर चेयरमैन चंद्रशेखरन ने अपने बयान में कहा, ‘मैं यह बताना चाहूंगा कि नेतृत्व में कोई संरचनात्मक बदलाव नहीं हो रहा है। ब्लूमबर्ग की एक खबर के संबंध में यह बयान आया।

बयान में कहा गया था कि टाटा संस ‘कामकाज के संचालन को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए एक मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) का पद गठित कर अपनी नेतृत्व संरचना में ऐतिहासिक बदलाव’ पर विचार कर रही है। सीईओ का पद चेयरमैन के वर्तमान पद से नीचे होगा और सीईओ ‘153 साल पुराने टाटा साम्राज्य के विशाल कारोबार का मार्गदर्शन करेगा।

चेयरमैन चंद्रशेखरन ने बताया कि इस तरह का कोई भी फैसला बोर्ड की नामांकन और पारिश्रमिक समिति द्वारा लिया जाता है। ऐसा कोई भी फैसला, अगर जरूरी हो, नामांकन और पारिश्रमिक समिति द्वारा लिया जाता है। रतन टाटा ने कहा, ‘इस तरह की अटकलों से केवल उस टीम के बीच व्यवधान पैदा होता है जो बाजार मूल्य में प्रभावशाली वृद्धि के साथ सुचारू रूप से काम कर रही है।

Related Articles