IPL
IPL

Team India के वनडे World Cup जीत के 10 साल हुए पूरे, जानिए कैसे मिला था आत्मविश्वास

वानखेड़े स्टेडियम में नुवान कुलासेकरा की गेंद पर महेंद्र सिंह धोनी द्वारा लगाए गए गगनचुंबी छक्के के साथ जीते गए वर्ल्ड कप की जिसके बाद करोड़ों भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो गया।

नई दिल्ली: साल 2011 तारीख 2 अप्रैल शायद ये कभी किसी भी भारतीय के दिमाग से नहीं उतरने वाला दिन है। क्योंकि आज से 10 साल पहले भारतीय क्रिकेट टीम ने वो कर दिखाया था जिसका सपना दशकों से हर भारतीय ने देखा था। जी हां हम बात कर रहे हैं वानखेड़े स्टेडियम ( Wankhede Stadium ) में नुवान कुलासेकरा की गेंद पर महेंद्र सिंह धोनी द्वारा लगाए गए गगनचुंबी छक्के के साथ जीते गए वर्ल्ड कप ( World Cup ) की जिसके बाद करोड़ों भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो गया।

आपको बता दें भारत ने 2011 के वर्ल्ड कप में श्रीलंका ( Sri Lanka ) को हराकर दूसरी बार वनडे वर्ल्ड कप जीता था। जिसके बाद भारतीय क्रिकेट की छवि पूरे विश्व में बदल गई। आज उस दिन को 10 साल पूरे हो गए हैं यह कारनामा भारतीय क्रिकेट टीम ने महेंद्र सिंह धोनी ( Mahendra Singh Dhoni ) के नेतृत्व में करके दिखाया था। जिसके बाद भारतीय क्रिकेट टीम ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। इस मैच में गौतम गंभीर की 97 रनों की शानदार पारी और ज़हीर खान के नेतृत्व में धारदार गेंदबाज़ी के दम पर भारत ने इस मैच के साथ करोड़ों भारतीय दिलों को भी जीत लिया था।

कैसे मिला था आत्मविश्वास

इससे पहले भारतीय क्रिकेट टीम ने 28 साल पहले 1983 में कपिल देव के नेतृत्व में वेस्टइंडीज को हराकर पहली बार विश्वकप जीत कर खिताब अपने नाम किया था। पहले वर्ल्ड कप के बाद से ही भारतीय टीम का आत्मविश्वास काफी बढ़ गया था। और उसके बाद से भारतीय क्रिकेट टीम ने एक नई शुरुआत की और विश्व क्रिकेट में अपनी पहचान बनाई। इस बीच भारतीय क्रिकेट को खिलाडी के तौर पर कई नायब हीरे मिले जिन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम को एक अलग दिशा दी शायद उसी के कारण भारतीय क्रिकेट टीम दोबारा वर्ल्ड कप जीतने में सफल रही।

यह भी पढ़े: Coronavirus Cases: दिल्ली में कोरोना विस्फोट, हरकत में आई केजरीवाल सरकार, बुलाई आपात बैठक

Related Articles

Back to top button