तीज की उमंग और मस्ती संग मिले हेल्थ टिप्स

0

आगरा। तीज उत्सव मनाने का अंदाज कुछ अनोखा था। हरे रंग के परिधानों और आकर्षक गहनों से सजी संवरी सखियां जहां तीज की मस्ती और उमंग को इंजॉय कर रहीं थी, हाथों में मेहंदी रचाई जा रही थी। वहीं दूसरी ओर उन्हें वायरस और बैक्टीरिया के लिए (आर्द्रता और कम तापमान के कारण) अनुकूल मौसम में खुद को स्वस्थ और दुरुस्त रखने के टिप्स भी मिले।

 

 

क्लब 35 प्लस की तीज उत्सव संजय प्लेस स्थित होटल पीएल पैलेस में मनाया गया। जहां तीज की मस्ती तो थी ही साथ ही सावन (बारिश के मौसम) में खुद को कैसे स्वस्थ रखें इसकी जानकारी भी मिली। स्त्री व प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. जयदीप मल्होत्रा ने बताया कि सावन के महीने को लेकर कई भ्रांतियां हैं। जैसे दही न खाना, बालों का अधिक झड़ना आदि। बताया कि दही में लेक्टोवेसेलस बैक्यीरिया होता है जो न सिर्फ हमारे शरी के लिए लाभदायक है बल्कि यह वजाइनल इनफेक्शन की सम्भावना को बी कम करता है। बालों के गिरने के भी कई कारण हो सकते हैं। मसलन 45 की उम्र के बाद महिलाओं के शरीर में मेल हार्मोन का अनुपात अधिक हो जाता है। या फिर पार्लर आदि में साफ सफाई का ध्यान रखने पर ऐसा हो सकता है।

इसके उपरान्त शुरू हुआ तीज की मस्ती का सिलसिला। एक ओर जहां सखियां हाथों में मेहंदी रचना रहीं थी वहीं दूसरी और अन्ताक्षरी का लुत्फ लिया जा रहा था। मोनिका ग्रवाल ने अपने बगीचे को हरा भरा और स्वस्थ रखने के तरीके बताए। तीज उत्सव के मौके पर सदस्याओं को उपहार स्वरूप पौधे प्रदान किए गए। सबी सदस्याओं का स्वागत कोआर्डिनेटर अशु मित्तल ने किया। इस अवसर पर मीनाक्षी मोहन, रेशमा मगन, मयूरी मित्तल, कांता माहेश्वरी, रेनू अग्रवाल, मीनाक्षी मित्तल, पुष्पा पोपटानी, रैमी सेतिया, निधी सचदेवा आदि मौजूद थीं।

सावधानियां

-ताजा दही खाएं। यह वजाइनल इनफेक्शन होने से रोकता है।

-बालों और शरीर को साफ रखें।

-इनफेक्सन का कारण शरीर की प्रतिरोधकता का कम होना है। इसलिए पौष्टिक और संतुलित आहार लें।

-ब्यूटी पार्लर में अपना कंघा, तौलिया आदि लेकर जाएं। बारिश के मौसम में यह सावधानी अवस्य बरतें।

-बारिश के मौसम में वजाइनल इनफेक्सन अधिक होता है। इसके लिए परफ्यूम, सोप आदि का प्रयोग न करें। बेहतर है इसके लिए दही खाएं।

loading...
शेयर करें