किशोरी से दुष्कर्म में बीस साल की सजा, लगाया 60 हजार रुपये जुर्माना

 उत्तर प्रदेश: विशेष अदालत पॉक्सो एक्ट के न्यायाधीश सैय्यद सरवर हुसैन रिजवी ने तीन साल पहले किशोरी से हुए दुष्कर्म के मामले में दोषी को बीस साल की सजा सुनाई है। 60 हजार रुपये जुर्माना भरने का आदेश भी दिया है।जुर्माना अदा न करने पर आरोपी को छह माह की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। फर्रुखाबाद के मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के एक गांव निवासी ग्रामीण अपनी पत्नी व 15 वर्षीय पुत्री के साथ 19 जुलाई 2017 को खेत पर काम कर रहा था।मां ने पुत्री से मूंगफली का बोझा घर भेजा। पुत्री के घर से खेत न लौटने पर मां घर आई। वहां उसने देखा कि घर के अंदर कमरे में गांव का युवक रामबाबू पुत्र रामकिशन पुत्री के साथ दुष्कर्म कर रहा है। पुत्री बचने को शोर मचा रही थी।मां के शोर मचाने पर युवक वहां से भागने लगा तो उसने उसे पकड़ लिया। युवक ने किशोरी की मां के हाथ को झटक दिया और भाग गया। महिला ने खेत पर जाकर पति को घटना की जानकारी दी।

इसके बाद पीड़ित पुत्री को साथ लेकर मोहम्मदाबाद कोतवाली गई।मां ने युवक पर बेटी से दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कर्राई। पुलिस ने विवेचना कर अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया। मुकदमे की सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष के वकील व सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता तेज सिंह राजपूत ने दलीलें पेश कीं।सुनवाई पूरी होने पर न्यायाधीश ने अभियुक्त को दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट में दोषी पाकर बीस साल कैद की सजा और जुर्माने से दंडित किया। जुर्माना राशि 60 हजार रुपये वसूल होने पर पीड़ित किशोरी को दिए जाने का आदेश दिया है।

Related Articles