अटल जी के इस मंदिर में रोज होते हैं भजन और आरती

ग्वालियर| मध्य प्रदेश के ग्वालियर में देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का एक मंदिर है। इस मंदिर में नियमित रूप से भजन और आरती होती है। ग्वालियर अटल बिहारी वाजपेयी की कर्मस्थली रही है। यहां उन्होंने न केवल पत्रकारिता की, बल्कि राजनीति का ककहरा भी यहीं से पढ़ा है। आज भी यहां के लोगों के दिलों में उनकी खास जगह है। यही कारण है कि विजय सिंह चौहान ने उनका एक मंदिर ही बना दिया है।

atal-bihari-vajpayee-profileसत्यनारायण के टेकरी क्षेत्र में हिंदी माता मंदिर के करीब अटल बिहारी का मंदिर बनाया गया है। इस मंदिर में अटल बिहारी की प्रतिमा नहीं, बल्कि एक तस्वीर रखी गई है। मंदिर बनाने वाले विजय सिंह चौहान अटलजी के बड़े प्रशंसकों में से हैं।

विजय सिंह कहना है कि उनके लिए अटलजी भगवान नहीं, बल्कि हिंदी के संत है। यही कारण है कि उनका मंदिर हिंदी मंदिर के करीब बनाया गया है।

विजय सिंह ने आईएएनएस से कहा कि मंदिर के लिए अटल बिहारी की प्रतिमा बनवाई जा रही है, जिसे इस मंदिर में स्थापित किया जाएगा। यह मंदिर 2005 में बनाया गया था। इस मंदिर के करीब हिंदी माता का मंदिर पहले से बना हुआ है।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि वह चाहते हैं कि आने वाली पीढ़ी अटल बिहारी के बारे में जान सके, इसलिए यह मंदिर बनाया गया है। यह ऐसे राजनेता रहे हैं, जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र संघ में जाकर हिंदी में भाषण दिया था, उनके हिंदी प्रेम के मद्देनजर ही हिंदी माता मंदिर के करीब यह मंदिर बनाया गया है।

इस मंदिर में नियमित रूप से आरती-पूजा की जाती है। इस मौके पर बड़ी संख्या में लोग जमा होकर अटल बिहारी के व्यक्तित्व को याद करते हैं।

अटल जी के 91वें जन्मदिन के मौके पर शुक्रवार को इस मंदिर में भी विशेष पूजा-अर्चना की गई और लोगों को मिठाई बांटे जाने के साथ अटलजी के स्वास्थ्य की कामना की गई।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button