बलूचिस्तान में सैन्य बलों पर आतंकी हमला, 14 लोगो की मौत

बलूचिस्तान: एक बार फिर पकिस्तान में दहशतगर्दी और हैवानियत का स्वरुप देखने को मिला है। पकिस्तान के बलूचिस्तान में अर्धसैनिक बल के काफिले पर आतंकवादी हमला हुआ है।

सरकारी ऑयल एंड गैस डेवेलमेंट कंपनी लिमिटेड पर आतंकवादी हमला

बता दें कि पकिस्तान के बलूचिस्तान में अर्धसैनिक बलों के तेल और गैस कर्मचारियों के काफिले पर आतंकवादी हमला हुआ है। इस हमले में 7 सैनिको सहित 14 लोगो की मौत हो गई। 15 अक्टूबर को पकिस्तान के पश्चिमी प्रान्त बलूचिस्तान के ग्वादर जिले के ओरमारा शहर में सरकारी ऑयल एंड गैस डेवेलमेंट कंपनी लिमिटेड के कर्मचारियों पर आतंकवादी हमला हुआ।

इंटर-सर्विस पब्लिक रिलेशन्स ने की हमले की पुष्टि

इस बात की पुष्टि पाकिस्तान आर्मी के मीडिया विंग इंटर-सर्विस पब्लिक रिलेशन्स ने की। सूत्रों से मिली जानकारी मुताबिक हमले में फ्रंटियर कोर के सात सैनिक और इतनी ही संख्या में प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड की मौत हो गई। हमले के दौरान दोनों तरफ से गोलीबारी हुई। गोलीबारी में दहशतगर्दो को भी काफी नुक्सान हुआ।

ग्वादर से करांची लौटते वक़्त हुआ काफिले पर हमला

एक शीर्ष अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक ये घटना तब हुई जब काफिला ग्वादर से करांची लौट रहा था। आतंकवादियों ने बलूचिस्तान-हब-कराची तटीय हाईवे पर ओरमारा के पास पहाड़ों से काफिले पर अटैक कर दिया। अटैक के दौरान दोनों तरफ से भारी मात्रा में गोली-बारी हुई।

चीन-पाकिस्तान विकास परियोजना का सेंटर पॉइंट है ग्वादर बंदरगाह

अधिकारियों ने बताया की अटैक की योजना आतंकवादियों ने पहले से बना रखी थी। उन्हें इस बात की जानकारी थी, कि काफिला करांची जा रहा है।
गौरतलब है कि ग्वादर बंदरगाह तकरीबन 60 बिलियन डॉलर का चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा विकास परियोजनाओं का सेंटर पॉइंट है। यहाँ पर भारी सुरक्षा में विदेशी अधिकारी और राज्य के नामी लोग काम करते है। इंटर-सर्विस पब्लिक रिलेशन्स ने हमलावरों की कोई सटीक संख्या नहीं बताई है

हमले में शामिल आतंकवादियों की तलाश के लिए सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर ली है। बता दें कि अभी तक किसी आतंकवादी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

ये भी पढ़ें:लॉकडाउन के बाद कार और टू व्हीलर की बिक्री में जबरदस्त उछाल, तीन पहिया वाहनों की घटी मांग

Related Articles