आईएसआईएस कर्नाटक को बना रहा नया ठिकाना?

isis

नई दिल्ली। दुनिया का सबसे बड़ा आतंकी संगठन आईएसआईएस अब सपने पैर दक्षिण भारत में फैलाने पर जोर दे रहा है। पुलिस ने वहां के ऐसे 40 लड़कों की पहचान की है जिनका झुकाव आईएसआईएस की तरफ है। सुरक्षा एजेंसियों ने भी कर्नाटक को बेहद संवेदनशील माना है।

पढ़ें: जिहादी बनने जा रहे तीन युवक गिरफ्तार

आतंक का गढ़ बनता जा रहा कर्नाटक
कर्नाटक पुलिस की अगर माने तो साउथ कन्नड़, उडुपी, चिकमगलूर, हुबली-धारवाड़, बेलगावी और गुलबर्ग जैसे जिलों में आतंकी संगठन का असर माना जा रहा है। सोशल मीडिया के जरिए यहां राज्य के कई यंगस्टर्स और युवा आईएस से नेटवर्क से जुड़ रहे हैं। पुलिस अफसरों ने दावा किया कि उन्होंने पिछले छह महीनों में ऐसे कम से 20 ब्रेनवाश किए गए लड़कों को मुख्यधारा में वापस लौटाने में सफलता पाई है।

पढ़ें: भारतीय मुसलमानों को कभी बहका नहीं सकेगा ISIS: राजनाथ सिंह

आईएस को सपोर्ट करने वाला धरा गया
हाल ही पुलिस ने बेंगलुरु में आईएस को सपोर्ट करने वाले मेहदी मसरूर बिस्वास को गिरफ्तार किया था। वह आईएस के लिए सोशल मीडिया पर नए लड़ाकों की भर्ती के काम में लगा हुआ था। पुलिस ने इसे देखते हुए ऑनलाइन सोशल मीडिया पर विशेष नजर रखने के लिए स्पेशल सेल बनाई है जो संदेही माने जा रहे सोशल मीडिया अकाउंटस पर नजर रख रही है।

पढ़ें #ISIS को रोकने के लिए बेहद जरूरी है अयोध्या में राम मंदिर

पकड़े गए तीन इंजीनियरिंग छात्र
हाल ही में हैदराबाद के तीन इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स को बीते शनिवार नागपुर एयरपोर्ट से महाराष्ट्र एटीएस ने हिरासत में लिया। बताया जा रहा है कि तीनों ही श्रीनगर के रास्ते IS में शामिल होने सीरिया जाने की फिराक में थे। इनमें से दो को सितंबर 2014 में भी इसी आरोप में गिरफ्तार कर हिरासत में लिया गया था। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर में भी नौ नाबालिगों को आतंकी संगठन को ज्वॉइन करने के आरोप में अरेस्ट किया गया था।

पढ़ें आईएस का फरमान अधर्मी को मारकर खा जाओ

राजस्थान में भी दी दस्तक
अब तक देश के सबसे शांत हिस्सा माने जा रहे राजस्थान की राजधानी जयपुर में भी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के मार्केटिंग मैनेजर सिराजुद्दीन को आईएसआईएस का एजेंट होने के शक में अरेस्ट किया गया था। जयपुर से गिरफ्तार किए गए आंतकी संगठन के एजेंट ने पुणे की एक लड़की का भी ब्रेन वॉश किया था। वह भी सीरिया जाने की तैयारी कर रही थी परन्तु समय रहते उसे एटीएस ने पकड़ लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button