आतंकी हाफिज सईद ने गुरुग्राम में खरीदी संपत्ति, यहां से होती है टेरर फंडिंग-ED का दावा

0

गुरुग्राम : मुंबई हमले का  मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद को लेकर एक बड़ी खबर साममे आ रही है। एक ताजा मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हरियाणा के गुरुग्राम में हाफिज सईद की टेरर फंडिंग के एक नए ठिकाने का पता चला है। हिंदुस्तान की एक खबर के हवाले से ये खबर सामने आई है। रिपोर्ट के अनुसार हाफिज ने अपने दोस्त की पत्नी के नाम से गुरुग्राम में संपत्ति खरीदी है।

इस बात का खुलासा प्रवर्तन निदेशालय ने किया है। बताया जाता है कि गुरुग्राम के डीएलएफ फेज दो स्थित एल 25/4 के बिल्डिंग के एक फ्लोर को ईडी ने कुर्क करने के लिए अटैच किया है। ईडी की रिपोर्ट के मुताबिक यह संपत्ति 5 साल पहले हवाला के जरिए जहूर अहमद साह वटाली नाम के शख्स के द्वारा खरीदी गई थी।

तीन मंजिला इस इमारत के ग्राउंड फ्लोर को 11 फरवरी 2014 में साह जहूर के नाम से खरीदा गया था, उस वक्त उसकी कीमत 92.20 लाख रुपए अदा की गई थी, इसके अलावा रजिस्ट्री पर 6.18 लाख रुपए खर्च किए गए थे। ईडी का कहना है कि पाकिस्तान में रहने वाले हाफिज सईद के द्वारा चलाए जाने वाले फलाह ए इंसानियत (एफआईएफ) के फंड से हवाला के जरिए पैसा श्रीनगर निवासी जहूर अहमद साह वटाली को भेजा गया था।

ईडी की इस जांच रिपोर्ट के बाद केंद्रीय जांच एजेंसी सीआईडी और आईबी भी सतर्क हो गई है। इससे जुड़े दस्तावेज मंगलवार को सीआईडी ने नगर निगम गुरुग्राम से प्राप्त किए। नगर निगम से जुड़ी रिपोर्ट में ये दावा किया गया है कि एक साल से फ्लैट का संपत्ति कर बकाया है।

कौन हैं जहूर
बता दें कि जहूर अहमद साह वटाली गुरुग्राम में ही एक निजी अस्पताल में हड्डियों के डॉक्टर हैं, जबकि इनके अन्य दो भाई भी डॉक्टर हैं। इनमें से एक दिल्ली के बड़े सरकारी अस्पताल में तैनात हैं। इधर इन रिपोर्ट्स पर जहूर का कहना है कि टेरर फंडिंग के नाम पर उन्हें बेवजह फंसाया जा रहा है। चुनाव को देखते हुए एक राजनीतिक पार्टी इसका लाभ उठाना चाहती है।

ये भी देखें 

loading...
शेयर करें