थरूर का ‘समलैंगिक’ बिल धराशायी, बोले-ये असहिष्‍णुता है

shashi_tharoor-2132

समलैंगिक संबंध को अपराध की श्रेणी से बाहर करने का कांग्रेस सांसद शशि थरूर का बिल लोकसभा में औंधे मुंह गिर गया। 70 वोट उनके बिल के खिलाफ थे, जबकि 24 उनके साथ।

इस हार के बाद थरूर ने कहा, ‘इस असहिष्‍णुता को देखकर मैं हैरान हूं।’ बाद में उन्‍होंने ट्विटर पर अपने समर्थकों से खुलकर बात की। माना कि यूपीए सरकार के दौरान भी उनका यही पक्ष था लेकिन वह आधिकारिक तौर पर बोल नहीं सकते थे।

समलैंगिकता से जुड़े धारा 377 संशोधन विधेयक की हार के बाद थरूर ने कहा कि वह इस बिल पर चर्चा न होने से दुखी हैं। भाजपा सांसदों ने इस बात को नजरअंदाज कर दिया कि बिल पर खून चर्चा हुई थी और यह बेहद जरूरी था।

थरूर ने कहा कि हमें सरकार को लोगों के बेडरूम में दाखिल होने से रोकना चाहिए। उन्‍होंने अपने समर्थकों से कहा कि वह धारा 377 की जंग जारी रखेंगे। उन्‍होंने कहा, ‘जब मैं सरकार में था तो इस मुद्दे पर नहीं बोल सकता था। सिस्‍टम ऐसा ही है। अगली दूसरे मंत्री के विभागों के काम में दखलअंदाजी की जाए तो सरकार तक गिर सकती है।’

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button