आरोपी को नहीं आया तरस, मासूम बच्ची को किया आग के हवाले

मुजफ्फरपुर: बिहार (Bihar) के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) जिले से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक व्यक्ति ने महिला के छेड़खानी का विरोध करने पर उसकी तीन महीने की बच्ची को कथित तौर पर आग में फेंक दिया। पीड़िता ने तुरंत बच्ची को गोद में उठा लिया लेकिन तब तक बच्ची का पैर बुरी तरह से जल चुके थे। पीड़िता ने बच्ची को निकट के अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद इलाज के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया।

जानकारी के मुताबित यह घटना बोचहा थाना क्षेत्र के एक गांव की बताई जा रही है। बच्ची का इलाज सदर अस्पताल में कराया गया है। पुलिस केस दर्ज कर छानबीन करने में जुट गयी है। पुलिस का कहना है कि बोचहा थाना क्षेत्र के एक गांव में एक महिला अपने घर के बाहर अलाव जलाकर ताप रही थी। उसे अकेला देख गांव के ही मोहम्मद अकलू ने अलाव तापने के बहाने वहां बैठकर महिला के साथ छेड़खानी शुरू कर दी। महिला ने जब इसका विरोध करना शुरू किया तो आरोपी ने महिला की गोद में तीन माह की बेटी को छीनकर अलाव पर फेंक दिया और मौके से फरार हो गया।

मामला दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस

घटना के बाद पीड़िता थाने पहुंच गई। जब पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज नहीं की तो पीड़िता एसएसपी के पास गई। एसएसपी की पहल पर बोचहा थाने में प्राथमिकी दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी गई है। पीड़िता के पति ने बताया कि मेरी पत्नी घर के दरवाजे के बाहर ठंड होने के कारण अलाव जलाकर ताप रही थी। उसी दौरान पड़ोसी अकलू आया और मेरी पत्नी के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी।

पीड़िता के पति ने लगाया पुलिस पर लापरवाही का आरोप

वहीँ दूसरी तरफ पति ने बताया कि जब मेरी पत्नी ने विरोध किया तो बच्ची को आग में फेंक दिया जिससे बच्ची बुरी तरह से जख्मी हो गई। हमने एसएसपी से मिलकर कार्रवाई को लेकर न्याय की गुहार लगाई है और आरोपी की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। इस पूरे मामले पर डीएसपी वैधनाथ सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस केस की छानबीन कर रही है। मामले में 341, 323, 354, 307, धारा समेत छेड़खानी की भी धारा में केस दर्ज हुआ है।

यह भी पढ़ें: किसान का विरोध होगा विफल, Budget 2021 पेश होने से पहले किए कड़े इंतजाम

Related Articles