बंद हो चुका विमान अब फिर छुएगा आसमान, मिल गया नया मालिक

नई दिल्ली: देश की सबसे पुरानी प्राइवेट एयरलाइन जेट एयरवेज (Jet airways) भारी कर्ज की वजह से अप्रैल 2019 में डूब गई थी वो अब फिर से आसमान छूने को तैयार है। जेट एयरवेज को अब नया मालिक (Owner) मिल गया है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस विमान को मंजूरी मिलने के बाद लगभग छह महीने में फिर उड़ान भर सकेगी। बुरी तरीके से डूब चुकी जेट एयरवेज की बोली लगी थी, जिसे जालान कल्क्रॉक कंसोर्टियम ने जीत लिया है। इसका मतलब साफ हो चूका है कि अब जेट एयरवेज के नए मालिक जालान कल्क्रॉक कंसोर्टियम (New owner Jalan Culrock Consortium) होंगे।

उड़ाने चालू होने में लग सकता है समय

कंसोर्टियम अब नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल से रिजॉल्यूशन प्लान की मंजूरी मिलनी बाकि है। मंजूरी मिलने के बाद चार से छह महीनों में एक बार फिर से जेट एयरवेज की उड़ाने चालू होंगी। कंसोर्टियम ने बताया है कि 25 विमानों को शुरुआत में एक साथ उड़ाया जाएगा। जालान के एक अधिकारी ने कहा कि अब नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल की फैसले का इंतजार है, मंजूरी मिलने के लगभग चार से छह महीने में हवाई यात्रा शुरू हो जाएगी। एनसीएलटी की तरफ से मंजूरी मिलने के बाद रिजॉल्यूशन प्लान को सिविल एविएशन मंत्रालय भेजा जाएगा। फिर सिविल एविएशन डायरेक्टरेट के पास भेजा जाएगा।

ये भी पढ़ें : वित्त मंत्री ने बजट को दिया अंतिम रूप, कल सदन में होगा पेश

2019 में डूबी थी कंपनी

आपको बता दें कि अप्रैल 2019 में प्राइवेट एयरलाइन जेट एयरवेज को जब भरी नुकसान हुआ था तब उड़ाने बंद हो चुकी थी। उस हालात में कंपनी के प्रमोटर नरेश गोयल को 500 करोड़ रुपए की जरूरत थी और वो कर्ज को चुका नहीं पाया था। उस समय इस कंपनी की हालत ऐसी थी कि वो अपने कर्मचारी की सैलरी तक नहीं निकाल पा रही थी। जेट एयरवेज बंद होने के बाद करीब 17 हजार कर्मचारी की नौकरी चली गई थी।

ये भी पढ़ें : ‘मोदी ने दुनिया के सामने भारत को एक मिसाल के तौर पर पेश किया’

Related Articles

Back to top button